मोहम्मद फुरकान शोएब ने बनाई एशिया की पहली उड़ने वाली कार

भारत को जल्द ही आसमान में उड़ती कारें देखना कोई फैंटेसी नहीं रहेगा यह जल्द ही साकार होने वाला है और सपने को साकार करने का क्रेडिट मुहम्मद फुरकान शोएब और उनकी टेक्निकल टीम को जाता है। एशिया की पहली फ्लाईंग कार की निर्माता कम्पनी VINATA Aeromobility (चेन्नई) के चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर फुरकान शोएब ने एयरनॉटिकल में इंजीनियरिंग की थी और वह भारत के वन ऑफ सर्टिफाइड UAV पायलट हैं। इस उड़ने वाली कार के मॉडल को लन्दन के Helitech expo में भी दिखाया गया। कंपनी सुर्खियों में तब आई जब कंपनी की एक टीम ने हाल ही में अपनी हाइब्रिड फ्लाइंग कार का प्रोटोटाइप केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिखाया।

इस मुलाकात के बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस बात की जानकारी देते हुए अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि, “विनाटा एयरोमोबिलिटी की युवा टीम द्वारा जल्द ही बनने वाली एशिया की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार के कॉन्सेप्ट मॉडल से परिचित होने की खुशी है।

फुरकान शोएब उत्तर प्रदेश के कन्नौज के रहने वाले हैं और विनाटा एयरो मोबिलिटी कंपनी में चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर के पद पर कार्यरत हैं। फुरकान शोएब के बारे में कंपनी की वेबसाइट पर लिखा है कि वो कंपनी में चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर है, एक भारतीय अविष्कारक है, एयरोनॉटिकल इंजीनियर हैं और साथ ही सर्टिफाइड (प्रमाणित) यूएवी पायलट भी है। इसके अलावा वो एयरोस्पेस डिजाइन और यूएवी इंजीनियरिंग में विशेषज्ञ है। उन्हें एडवांस्ड एयर क्राफ्ट और यूएवी बनाने का जुनून है. उन्हें यूएवी और एयर क्राफ्ट के रिसर्च और डेवलपमेंट का भी अनुभव है।

कंपनी ने अपने यूट्यूब चैनल पर फ्लाइंग कार के डिजिटल प्रोटोटाइप का एक वीडियो भी जारी किया है। इस वीडियो में दिखाया गया है कि इस उड़ने वाली कार का केबिन कैसा होगा और इसमें कितने लोग बैठ सकते हैं। वीडियो में इस कार में बैठने की व्यवस्था की झलक दिखाई गई है। इस उड़ने वाली कार एक समय में दो लोग बैठ सकते हैं। कार के पंख जैसे दरवाजे सीधे खुलते हैं।

विज्ञापन