देश के सबसे बड़े दानवीर अज़ीम प्रेमजी, हर दिन डोनेट किये 27 करोड़

जहाँ Asia की सबसे बड़ी कंपनी Reliance Idustries के मालिक मुकेश अंबानी 577 करोड़ रुपये डोनेशन का योगदान करके तीसरे स्थान पर रहे वही दूसरे स्थान पर एचसीएल के शिव नाडर थे जिन्होंने परमार्थ कार्यों के लिए 1,263 करोड़ रुपये का दान दिया। वही पहले स्थान की बात की जाए तो पहले स्थान पर विप्रो (Wipro) के संस्थापक अजीम प्रेमजी (Azim Premji) ने वित्त वर्ष 2020-21 में कुल 9,713 करोड़ रुपये यानी 27 करोड़ रुपये प्रतिदिन का दान दिया है।

इसके साथ उन्होंने परमार्थ कार्य करने वाले भारतीयों के बीच अपना शीर्ष स्थान बरकरार रखा. एडेलगिव हुरुन इंडिया फिलैंथ्रोपी लिस्ट 2021 के अनुसार, महामारी से प्रभावित वर्ष के दौरान प्रेमजी ने अपने दान में लगभग एक चौथाई की वृद्धि की है। कुमार मंगलम बिड़ला ने 377 करोड़ रुपये के साथ चौथा स्थान हासिल किया है। देश के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति और अडाणी ग्रुप के प्रमुख गौतम अडाणी आपदा राहत के लिए 130 करोड़ रुपये का दान करने के साथ दानदाताओं की सूची में आठवें स्थान पर हैं।

इन्फोसिस के सह-संस्थापक नंदन नीलेकणी की रैंकिंग में भी सुधार हुआ और 183 करोड़ रुपये के दान के साथ उन्होंने सूची में पांचवां स्थान हासिल किया. शीर्ष दस दानदाताओं में हिंदुजा परिवार, बजाज परिवार, अनिल अग्रवाल और बर्मन परिवार शामिल हैं।

Hurun India के मैनजिंग डायरेक्टर और चीफ रिसर्चर Anas Rahman Junaid ने कहा, मौजूदा समय में अधिकांश पैसा बुनियादी जरूरतों के कारण शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा जैसे बुनियादी पहलुओं में जा रहा है। नीलेकणी ने वास्तव में दिलचस्प योगदान दिया है और 10 वर्षों में हमारे पास व्यापक नागरिक समाज के मुद्दे प्राथमिक कारणों के रूप में होंगे।

उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे 40 वर्ष से कम आयु के लोगों की आयु प्रोफाइल बदल जाती है और उनमें से कई सेल्फ मेड होने के कारण भी एक आशावादी तस्वीर पेश करते हैं। लिस्ट में कुछ नए नाम जुड़े हैं जिनमें सबसे बड़े स्टॉक निवेशक राकेश झुनजुनवाला शामिल हैं, जिन्होंने शिक्षा के प्रयासों के साथ वित्त वर्ष 2021 में अपनी कुल कमाई का एक चौथाई या 50 करोड़ रुपये का दान दिया।

विज्ञापन