Sunday, January 23, 2022

भागवत: RSS पारिवारिक माहौल वाला समूह है, कोई सैन्य संगठन नहीं

- Advertisement -

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने 28 नवंबर दिन रविवार को विपक्षियों को संघ का महत्व समझाने की कोशिश करते हुए कहा कि संघ कोई संगठन नहीं है बल्कि परिवारिक माहौल वाला एक समूह है। आगे कहां संघ में संगीत कार्यक्रम होता है तो यह कोई संगीत शाला नहीं है और ना ही कोई व्यायामशाला या मार्शल आर्ट क्लब। संघ में गणवेश पहनी जाती है तो यह कोई संगठन नहीं है संघ तो कुटुंब निर्माण करने वाली संस्था है।

उन्होंने कहा, यदि देश को बनाना है तो अभी से प्रयास करना होगा। अर्थव्यवस्थाओं और लूट के कारण देश को बहुत नुकसान पहुंचा है। इस नुकसान को ठीक करने के लिए कम से कम 10 से 20 वर्ष और लगेंगे हालांकि अभी तो इसको ठीक करने का प्रयास शुरू भी नहीं हुआ है। इसके लिए सभी को जोड़कर गुणवत्ता बनाकर देश के हित में काम करने का संकल्प लेकर इस समाज को खड़ा करना होगा।

अपनी बात को आगे रखते हुए उन्होंने कहा, कि इस काम के लिए वातावरण बनाने का काम सिर्फ संग ही करता है और इसमें सभी के योगदान की जरूरत है इसके लिए संघ से जुड़ना जरूरी नहीं है। संघ से दूर रहकर अपने घर से इस काम को अपना मान कर करना होगा।

4 दिन तक ग्वालियर में चल रहे संघ के स्वर साधकों के सम्मेलन में लगभग 450 से ज्यादा स्वर साधकों ने हिस्सा लिया और रविवार शाम को केदारपुर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर के मैदान में अपना प्रदर्शन संघ प्रमुख और आमजन के समान किया।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles