आज कल हमारी जीवनशौली में इतनी बदल गई है कि हम लोग अपने खान-पान में बिलकुल भी गौर नही करते, कोलेस्ट्रॉल कि मात्रा बढ़ने के कारण बहुत सी बीमारिया जन्म ले लेती है. कोलेस्ट्रॉल का नाम सुनते ही हृदय गति बढ़ जाती है, रक्त में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का सीधा मतलब है हृदय रोग होना, हृदय रोग होने का मतलब है जीवन को खतरा.

कोलेस्टेरॉल क्या है :

कोलेस्ट्रॉल या पित्तसांद्रव मोम जैसा एक पदार्थ होता है, जो जिगर से उत्पन्न होता है यह सभी पशुओं और मनुष्यों के कोशिका झिल्ली समेत शरीर के हर भाग में पाया जाता है. कोलेस्ट्रॉल शरीर में विटामिन डी, हार्मोन्स और पित्त का निर्माण करता है, जो शरीर के अंदर पाए जाने वाले वसा को पचाने में मदद करता है, शरीर में कोलेस्ट्रॉल भोजन में मांसाहारी आहार के माध्यम से भी पहुंचता है यानी अंडे, मांस, मछली और डेयरी उत्पाद इसके प्रमुख स्रोत हैं, अनाज, फल और सब्जियों में कोलेस्ट्रॉल नहीं पाया जाता, लेकिन रक्त में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से हृदय संबंधी रोगों का कारण बन जाता है.

कोलेस्टेरॉल बढ़ने के कारण:

  • अधिक मात्रा में वसा युक्त भोजन का सेवन करना.
  • शरीर के वजन का बढ़ना.
  • खानपान में लापरवाही करना .
  • नियमित व्यायाम की कमी या व्यायाम न करना.
  • अगर किसी परिवार के लोगों में अधिक कोलेस्ट्रॉल की शिकायत होती है तो
  • अगली पीढ़ी में भी इसकी मात्रा अधिक होने की आशंका रहती है.
  • कई लोगों में शरीर में कोलेस्ट्रॉल उम्र के साथ भी बढ़ता देखा जाता है.

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण:

  • कोलेस्ट्रॉल के बढ़ जाने का अनुभव स्वयं किया जा सकता है.
  • पैदल चलने पर सांस फूलने लगती हैं .
  • उच्च रक्तचाप रहने लगता हैं.
  • मधुमेह रोगी, शर्करा मात्रा अधिक रहने से उनका खून गाढ़ा होता है.
  • पैरों में दर्द रहने लगा हो, अन्य कोई कारण न होने से कोलेस्ट्रॉल कि बढ़ाई हो सकता है.
कोलेस्ट्रॉल कम करना है तो रोज सेवन करे इन खाद्य पदार्थो का:

ओट्स
सुबह के समय नाश्ते में ओट्स खाना स्वस्थ दिन की शानदार शुरुआत है, 6 हफ्ते तक सुबह नाश्ते में प्रतिदिन ओट्स का दलिया लेने से एलडीएल को 5.3% तक कोलेस्ट्रॉल घटा सकते हैं.

रेड वाइन
जो लोग वाइन पीने का शौक रखते हैं, उनके लिए अच्छी खबर है, हफ्ते में 2 बार थोड़ी सी रेड ग्रेप वाइन पीना कोलेस्ट्रॉल को कम करने मे मदद करता है.

डार्क चॉकलेट
डार्क चॉकलेट खाना भी कोलेस्ट्रॉल कम करने में उपयोगी है, क्योंकि इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट्स से रक्त नलिकाएं मजबूत बनती हैं, जिससे दिल का दौरा पड़ने की आशंका कम होती है.

साल्मन फिश
जो लोग मछली खाते हैं उनके लिए भी कोलेस्ट्रॉल को घटाना आसान है, दरअसल, हमारे शरीर को स्वस्थ फैटी एसिड और अमीनो एसिड की जरूरत होती है, शरीर को एनर्जी और विटामिन-डी देने के अलावा साल्मन फिश में स्वस्थ फैटी एसिड और अमीनो एसिड भरपूर मात्रा में होते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में उपयोगी हैं.

ड्राई फ्रूट्स
अब आप हर रोज मुट्ठी भर सूखे मेवे बिना किसी चिंता के खा सकते हैं, अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन की मानें तो सूखे मेवे खाना हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी है, क्योंकि इनमें प्रोटीन फाइबर और विटामिन-ई भरपूर मात्रा में होते हैं और साथ ही मेवों में स्वस्थ फैटी एसिड भी पाया जाता है जो केमिकल्स में प्रोसेस नहीं होता है और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में काफी असरदार है.

लहसुन
लहसुन का नियमित सेवन रक्तचाप, रक्तसंचार और ब्लड शुगर स्तर को सामान्य रखने के अलावा बैड कोलेस्ट्रॉल को घटाने में भी उपयोगी है.

ग्रीन टी
ग्रीन टी में कॉफी की तुलना में काफी कम कैफीन पाई जाती है साथ ही शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने और स्वस्थ रखने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट भी ग्रीन-टी में ज्यादा होते हैं, रोजाना ग्रीन-टी पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिससे बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करना आसान हो जाता है.

हरी पत्तेदार सब्जियां
हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन भी कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है क्योंकि हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन ए, बी, सी के साथ आयरन और कैल्शियम भी पाया जाता है, ये सभी पोषक तत्व शरीर को सेहतमंद बनाने के साथ-साथ रक्तसंचार दुरुस्त करते हैं, जिससे दिल आराम से अपना काम करता है.

अंकुरित दालें
अंकुरित दालों को अगर दिल का दोस्त कहा जाए तो गलत नहीं होगा, अपने दिन के खाने में कम से कम आधा कप बीन्स जैसे राजमा, चने, मूंग, सोयाबीन और उड़द को आप सूप, सलाद या सब्जी किसी भी रूप में ले सकते हैं, अंकुरित दालों का रोजाना सेवन बुरे कोलेस्ट्रॉल को घटाता है.

ऑलिव ऑयल
ऑलिव यानि जैतून के तेल में पका हुआ खाना कोलेस्ट्रॉल के मरीजों के लिए सबसे उपयुक्त रहता है क्योंकि इसमें बना खाना हल्का और सुपाच्य होता है और साथ ही उसमें मोनो अनसैचुरेटेड फैटी एसिड पर्याप्त मात्रा में होते हैं जो कोलेस्ट्रोल को कम करने में मदद करते हैं.

रेगुलर एक्‍सरसाइज करें
यदि आपको हाई कोलेस्‍ट्रॉल की समस्‍या है तो हफ्ते में 4 दिन तो जम कर व्‍यायाम करना ही चाहिये, एक्‍सरसाइज से कोलेस्‍ट्रॉल का स्तर कम हो जाता है और दिल की बीमारी पास नहीं आती.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?