these herbs will boost your memory

आजकल जिसे देखो उसकी याददाश्त कमज़ोर हो रही हैं हर कोई इस चीज़ से परेशान है कुछ लोगो का इमाग कमज़ोर होता हैं जिसके कारण लोगो को इस तरह की परेशानी होइ हैं आजकल बहुत सारी दवाईया बाज़ार में मिल रही हैं जो दिमाग को तेज़ करने का दावा करती है. इन दावों में कितनी सच्‍चाई है ये तो वो लोग ही जाने जो इसका नियमित सेवन करते हैं. पुराने समय में हमारे यहां हर छोटी से लेकर बड़ी बीमारी का इलाज जड़ीबूटियों के जरिए होता था और यह कारगर भी होती थी

चाहे वो घाव पर मरहम लगाना हो या याददाश्‍त बढ़ाना हो या की भी बड़ी से बड़ी बिमारी हो वो इसी तरह से सही होती थी. बदलते जमाने के साथ ना सिर्फ हम आयुवेर्दिक इलाज से दूर एलोपैथिक दवाईयों का सेवन करना शुरू कर दिया है, लेकिन अब लोगो को धीमे -धीमे समझ में आ रहा है और वो आयुर्वेदिक का महत्त्व समझ रहे है.

आज हम इस आर्टिकल में ऐसी जड़ी बूटियों के बारे में बता रहे हो आपके दिमाग तेज करने के साथ ही आपकी याददाश्‍त को भी मजबूत बनाएं रखता है और आपको इसके सेवन से किसी प्रकार का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं होगा.

जटामांसी:

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दिमाग को तेज करने के लिए सबसे पहली उपयोगी बूटी है जटामांसी. औषधीय गुणों से भरपूर यह बूटी व्यक्ति की याददाश्त को तेज करने का काम करती है।. इस बूटी के नाम में ही इसके गुण छिपे हैं.

जटा यानी कि बाल, और इस बूटी पर लगे हुए छोटे-छोटे बाल जैसे तंतु काफी प्रभावशाली हैं. इसका सेवन करने पर यह धीरे-धीरे काम करते हैं, लेकिन काफी प्रभावशाली हैं अगर आप इसका सेवन करने की सोच रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखना है की आपको धैर्य से काम लेना आपको दिमाग को तेज़ करने के लिए इस बूटी को पीसकर केवल एक चम्मच लेना है और फिर एक कप दूध में मिलाकर पीने से दिमाग तेज होता है.

शंख पुष्पी्:

दिमाग को बढ़ाने के साथ-साथ य‍ह जड़ी बूटी दिमाग में रक्त का सही सर्कुलेशन करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. इसके साथ ही यह बूटी व्यक्ति की रचनात्मकता को भी बढ़ावा देती है. यह जड़ी-बूटी हमारी याददाश्त और सीखने की क्षमता को भी बढ़ाती है. दिमाग को तेज करने के लिए आधे चम्मच शंख पुष्पी को एक कप गरम पानी में मिला कर लें.

दालचीनी:

यह जड़ी बूटी हर घर के रसोई में जरूर मिलता है. इसे मसाले के रूप में सबसे अधिक इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इसका उपयोग केवल खाना बनाते समय ही ना करें इसके बहुत सारे सेहत के फायदे होते हैं और यह दिमाग ते करने के लिए भी काम में लायी जाती हैं इसके लिए रात को सोते समय नियमित रूप से एक चुटकी दालचीनी पाउडर को शहद के साथ मिलाकर लेने से मानसिक तनाव में राहत मिलती है और दिमाग तेज होता है.

अजवायन:

खाना हज़म हो जाए इसके लिए महिलाएं खाने में अजवायन का काफी प्रयोग करती हैं. पेट की परेशानी में भी यह काफी लाभकारी है और यह मोटापा भी घटाने का कार्य करती है, लेकिन इसके अलावा अजवायन दिमाग तेज करने के काम आती है, विशेषज्ञों के अनुसार इन पत्तियों में भरपूर मात्रा में मौजूद एंटी-ऑक्सी डेंट दिमाग के लिए एक औषधि की तरह काम करता है.

तुलसी:

तुलसी के चमत्‍कारी फायदों के बारे में कौन नहीं जानता हैं यह हर प्रकार की समस्या के लिए काम में लाया जा सकता है इसी प्रकार इसका फायदा यह भी हैं की यह दिमाग को तेज़ करने का कार्य करती हैं.  तुलसी वैसे तो कई प्रकार की बीमारियों का इलाज करने में सहायक सिद्ध होती है, लेकिन साथ ही यह दिमाग को तेज करने के लिए एक जानी-मानी जड़ी बूटी भी है.

बाह्मी:

बाह्मी नामक जड़ी-बूटी को दिमाग के लिए एक खास टॉनिक माना गया है यह दिमाग को शांति और स्पष्टता प्रदान करती है और याद्दाश्त को मजबूत करने में भी मदद करती है इसीलिए इसे ब्रेन टॉनिक के नाम से जाना जाता हैं अगर आप इसका सेवन करेंगे तो आपका दिमाग हरहाल में तेज़ काम करेगा.

काली मिर्च:

साधारण सी दिखने वाली काली मिर्च के गजब के होते हैं. आपको काली मिर्च अधिक से अधिक इस्तेमाल करनी चाहिए इसेखाने में या फिर साबुत भी खा सकते है. क्योंकि इसमें पाया जाने वाला पेपरिन नामक रसायन शरीर और दिमाग की कोशिकाओं को आराम देता है और आपके डिप्रेशन को दूर करने के लिए भी यह रसायन जादू सा काम करता है इसीलिए दिमाग को स्वस्थ बनाए रखने के लिए काली मिर्च का उपयोग करें.

केसर दूध:

केसर में ऐसे गुण पाए जाते है जो दिमाग के साथ आपकी त्वचा वा अनिद्रा की परेशानी को भी दू रकरता हैं या फिर अन्य खाद्य पदार्थ में चुटकी से भी कम केसर का इस्तेमाल करने से अनिद्रा और डिप्रेशन जैसी बीमारियों से छुटकारा मिलता है और ऐसी ही बीमारियां हमारे दिमाग को कमज़ोर बनाती हैं.

हल्‍दी:

कैलिर्फोनिया यूनिवर्सिटी में हुए शोध के अनुसार, हल्दी में पाया जाने वाला रासायनिक तत्व कुरकुमीन दिमाग की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को रिपेयर करने में मदद करता है और इसके नियमित सेवन से एल्जाइमर रोग नहीं होता है. इसलिए आप इसे गर्म दूध में मिलाकर पी लें, फायदा होगा लेकिन ध्यान रहे कि ऐसा रोज़ाना ना करें इससे आपको उलटा असर पड़ेगा क्योंकि हल्दी की तासीर गर्म होती है, जिससे पेट की परेशानियां भी उत्पन्न हो सकती हैं.

जायफल:

हल्दी की तरह ही जायफल की भी तासीर गर्म होती है, इसलिए सही और कम मात्रा में ही इसका सेवन करना शरीर एवं दिमाग के लिए सही है. परन्तु कम मात्रा में भी यह दिमाग को तेज करने में सहायक सिद्ध होता है. इसको खाने से आपको कभी एल्जायइमर यानी भूलने की बीमारी नहीं होती है और आपका दिमाग तेज़ काम करता है.

do you want sharp memory and genius mind and do not know what to do, here is the solution use these herbs to boost your memory

web-title: these herbs will boost your memory

keywords: memory, brain, sharp, boost, herbs, tips