पोर्शिया | बदलती जीवनशैली, प्रदुषण और खानपान में बदलाव की वजह से अक्सर महिलाओं में पीरियड्स (मासिक धर्म) के दिनों में बुत अधिक दर्द की समस्या आज बेहद आम है. भले ही इस तकलीफ से तुरंत आराम के लिए पेनकिलर दवाओं के विकल्प होते है पर कई बार महिलाए डॉक्टरी परामर्श से इन दवाओ को लेने में हिचकिचाती है. ऐसे में इस समस्या से आराम के लिए ऐसे कई घरेलु उपाय है जिन्हें मासिक धर्म के समय होने वाले तेज़ दर्द में आराम के लिए अपनाया जा सकता है. इनका न तो कोई साइडएफेक्ट है और न ही ये अधिक खर्चीली है.

गर्म पानी से सिकाई :- मासिक धर्म के समय दर्द में सिकाई एक कारगर घरेलू उपाय है. गर्म पानी की सिकाई से गर्भाशय की मांसपेशियाँ शांत हो जाती है और दर्द में आराम मिलता है. इसके लिए आप रबड़ के बैग या थेली में गर्म पानी भर कर उससे पेट के निचले हिस्से की सिकाई करे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तुलसी :- तिलसी एक आयुर्वेदिक ओषधि के रूप में काम करती है जो दर्द कम करने में मदद करती है. एक चम्मच तुलसी के पत्ते उबलते पानी में डाले और उसे ढक कर रख दे. ठंडा होने पर इसे दिन में तीन – चार बार पिए.

सौंफ :- सौंफ गर्भाशय में होने वाले ऐंठन को शांत करके बेचैनी और दर्द को कम करती है. एक कप उबलते पानी में एक चम्मच सौंफ डालकर पाँच मिनट तक धीमी आंच पर पकाएं. जब यह थोडा ठंडा हो जाए तो एक चम्मच शहद को इसमें मिलाएं. इस हर्बल चाय को दिन में दो बार मासिक धर्म के शुरुआती 2 -3 दिनों में सेवन करे.

अदरक :- मासिक धर्म के दर्द में अदरक खाना बुत फायदेमंद होता है. आप चाहे तो इसके छोटे छोटे टुकडो को पानी में उबाल कर पी सकती है. इससे दर्द में आराम मिलेगा.

पपीता :- पपीता पाचन क्रिया को मज़बूत बनाने का काम करता है. इसमें उच्च मात्रा में विटामिन ए और सी पाया जाता है. इसमें कैल्शियम की निम्न मात्रा के साथ साथ आयरन भी होता है इसलिए इस खाद्य को उच्च गुणवत्ता वाला खाद्य माना जाता है. पपीता प्रकृति में उपलब्ध विभिन्नता वाला फल है जो कैलोरी में कम और पोषक मूल्यों में उच्च है. मासिक धर्म में इसका सेवन करने से दर्द में आराम मिलता है.

अजवाइन :- अक्सर पीरियड्स के दौरान महिलाओं में गैस की समस्या बढ़ जाती है जिसकी वजह से भी पेट में तेज़ दर्द होने लगता है. आधा चम्मच अजवाइन और आधा चम्मच नमक को मिलाकर गुनगुने पानी के साथ पीने से दर्द में तुरंत राहत मिल सकती है. इसके अलावा मासिक धर्म के दिनों में अजवाइन को चुकंदर, गाजर, और खीरे के साथ जूस बनाकर पीने से भी दर्द में राहत मिलती है.

 

Loading...