पोर्शिया |  स्त्रियों की योनी से सफ़ेद पानी का आना श्वेत प्रदर या लियोकोरिया कहलाता है. वैसे तो यह एक साधारण प्रक्रिया है. हमेशा इसको रोग भी नही समझा जा सकता है. यह मासिक धर्म होने से पहले, गर्भवस्था में या कामोच्छा होने पर आदि अवस्था में निकलना आम बात है और यदि योनी से सफ़ेद रंग का गंध रहित पानी निकले तो यह कोई बीमारी नही होती.परन्तु यदि योनी से सफ़ेद रंग का गाढ़ा गंध वाला पदार्थ निकले तो यह रोग की निशानी होती है.

सफ़ेद पानी आने से हमारे शरीर को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है जैसे- चक्कर आना, बदन दर्द, कमजोरी आना, चेहरे की चमक ख़तम होना, उदास या चिडचिडा होना आदि. कुछ महिलाये इसको किसी को बताते हुए शर्माती है और इस रोग से ग्रसित रहती है. यह महिलाओ के लिए एक कष्ट दायक रोग है. परन्तु कुछ घरेलु उपाय से इसका इलाज लिया जा सकता है.

  • रात को सोते समय चार चम्मच पीसी मेथी साफ़ और सफ़ेद भीगे हुए पतले कपड़े में बाँध कर पोटली बनाकर योनी में रखकर सोये. पोटली को साफ़ और मजबूत लम्बे धागे से बंधकर धागा बाहर निकलता हुआ छोड़े, जिससे पोटली आराम से बाहर निकली जा सके. चार घंटे बाद या जब भी किसी तरह का कष्ट हो, पोटली बहार निकाल दे. जब तक यह रोग ठीक नही हो जाता इस उपाय को रोज करते रहे.
  • मेथी पाक या मेथी के लड्डू खाने से श्वेत प्रदर से छुटकारा मिल जाता है.
  • एक चम्मच गुड और एक चम्मच मेथी का चूर्ण मिलाकर कुछ दिन तक खाने से श्वेत प्रदर आना बंद हो जाता है.
  • थोड़े से घी के साथ दो चम्मच हल्दी को गरम कीजिये. इस मिक्सचर का आधा चम्मच एक गिलास गरम दूध में मिलकर पिए. ऐसा रोज़ रात को सोने से पहले करने पर फर्क देखीये.
  • पानी और सेब की सामान मात्रा को मिला ले. इससे अपनी योनी को दिन में दो बार धोने के लिए इस्तेमाल करे. या फिर आप एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच सेब का सिरका डाल कर रोज़ सुबह पी लीजिये. इससे आपको जल्दी आराम मिलेगा.
  • एक चम्मच आंवला पाउडर में शहद मिलाकर पेस्ट बना लीजिये. इसे खाने से आपकी हालत में सुधार आएगा.
  • लहसुन और हल्दी का पेस्ट बना ले और इसे रोज़ सुबह लेने से श्वेत प्रदर ठीक हो जाएगा.
मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?