gallbladder stone

पित्त में पथरी होना या किडनी में पथरी होना आजकल आम बिमारी हो गयी हैं , जिसे देखो वो इस रोग ग्रसित हैं इसका मुख्य कारण होता हैं हमारी खरं जीवनसहिली वा खान-पान का सही ना होना इसके अलावा गन्दा पानी भी इसका एक कारण हो सकता हैं कभी-कभी यह समस्या आनुवंशिकता के कारण भी हो जाती हैं, यहाँ हम आपको  पित्त की पथरी के बारे में बताएंगे के किस प्रकार आप इसे नेचुरल तरीके से खत्म कर सकते हैं.

क्या होती हैं पित्त की पथरी:

जब आपके पित्त की थैली में कंकर पद जाते हैं तो इसे पित्त की पथरी बोला जाता हैं इसके होने के कई कारण होते हैं जिनमे से कुछ हम आपको ऊपर बता चुके हैं इसके अलावा गालस्‍टोन यानि पित्‍त पथरी, पित्‍ताशय की थैली या पित्‍त नली में बनती है जब कुछ कठोर पदार्थ इन जगहों पर एकत्रित हो जाते हैं, गालस्‍टोन दो प्रकार के होते हैं: कोलेस्‍ट्रॉल गालस्‍टोन और पिग्‍मेंट गालस्‍टोन

कोलेस्‍ट्रॉल गालस्‍टोन:

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसमें 80 प्रतिशत स्‍टोन होता है और यह रंग में पीलापन लिए हुए होता है.

पिग्‍मेंट गालस्‍टोन:

पिग्‍मेंट गालस्‍टोन का रंग गहरा होता है जो की बिलीरूबिन से मिलकर बना होता है.

पुरुषो की अपेक्षा महिलाओ में पित्त की पथरी होने का खतरा ज़्यादा होता हैं, खासकर गालस्‍टोन की समस्‍या महिलाओ में ज़्यादा होती हैं, वैसे तो इसे डॉक्टर के परामर्श से ली गयी एंटीबायोटिक के द्वारा निकाला जा सकता हैं.

screenshot_16

पित्त में पथरी होने के कारण:

हमारी खराब जीवनशैली के कारण.

गंदे पानी का सेवन करने के कारण पित्त में पथरी हो जाती हैं.

इसके अलावा, भोजन में संतृप्‍त कैलोरी और रिफाइंड सुगर और कम फाइबर की वजह से गालस्‍टोन बन जाता है.

कई बार वजन की अधिकता या तेजी से वजन में कमी भी इसके बनने का कारण हो सकता है, वजन का तेजी से कम होना, कैलोस्‍ट्रॉल को बाइल यानि पित्‍त में बदल देता है और इससे स्‍टोन बनने लगता.

आनुवंशिकता, अगर आपके घर में यह किसीको यह समस्या हैं तो इसके आपमें होने के चांसेज़ ज़्यादा बढ़ जाते हैं.

खराब खान-पान भी हैं एक वजह.

कुछ विधियां ऐसी होती हैं जिनसे वजन को एकदम से कम कर दिया जाता है जैसे – वजन घटाने की सर्जरी या कम कैलोरी वाली खुराक आद, ऐसे में शरीर में पथरी बनने का खतरा बढ़ जाता हैं.

पित्त की पथरी के लिए उपाय:

सेब का सिरका:

सेब का सिरका, शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल की मात्रा को कम कर देता है जो कि लिवर से बनता है, इसके अलावा सेब का जूस भी काफी फायदेमन्द होता हैं और इससे होने वाला दर्द भी कम हो जाता है.

सब्ज़ियों का जूस:

आप सब्जियों का जूस भी पी सकते हैं जिसमें कई सब्जियों को एक साथ काटकर पीस लें और उनका जूस नींबू का रस डालकर पी लें, इससे आपको स्वाद भी मिलेगा और आपको इसमें फायदा भी पहुँचेगा.

अरंडी का तेल:

अरंडी के तेल को अपने पेट पर मल लें, इससे काफी आराम मिलता है, खासकर उस स्‍थान पर जहां पथरी हो, इससे आपको इसके दर्द में काफी आराम मिलेगा, इसका इस्तेमाल आप नियमित तौर पर कर सकते हैं.

नारियल के पानी का सेवन:

नारियल के पानी में पोटासियम की मात्रा अधिक होती हैं जो की गुर्दे में बनी पथरी को गलने में मदद करता हैं रोज़ाना तीन से चार ग्लास नारियल का पानी पिए.

करेला:

करेला नियमित सेवन करने से पथरी का बनना कम हो जाता हैं
इसमें मैग्नीशियम और फॉस्फोरस होता हैं जो पथरी बनने नहीं देता हैं
आधा ग्लास करेला का जूस बना के इसका रोज़ाना सेवन करे

खाने पीना का रखे ख्याल:

अपने खान पान का ख्याल रखना इस रोग में बहुत ज़रूरी होता हैं कोशिश करे की आप तल चिकना या ज़्यादा चावल ना खाये, इसमें चावल खाना मन होता हैं, इसके अलावा प्राकृतिक पदार्थों का सेवन करें, जंक और फास्‍ट फूड से दूरी बनाएं, इससे आपको पित्‍त पथरी में काफी राहत मिलेगी.

बदले अपनी जीवनशैली:

सबसे जरूरी यह होता है कि अपनी जीवनशैली को बेहतर बनाएं, जल्दी उठने की वा जल्दी सोने की कोशिश करे और योग का सहारा लें बहुत ज़्यादा भारी एक्सरसाइज ना करे.

here we are giving you some effective home treatment for gallbladder stone

web-title: gallbladder stone treatment in hindi

keywords: gallbladder stone, symptoms, causes, treatment

Loading...