पोर्शिया | भरपूर पोषण की जरुरत सिर्फ नवजात बच्चे को ही नही होती बल्कि नई माँ को भी भी इसकी इतनी ही जरुरत होती है. माँ बनने का सौभाग्य हर महिला प्राप्त करना चाहती है इसलिए माँ बनने के बाद नवजात बच्चे के विकास में माँ का दूध बहुत महत्तवपूर्ण भूमिका निभाता है. यही वजह है की बाचे के जन्म के बाद सेहतमंद और पोषक तत्वों से भरपूर चीजो को खाना , माँ के लिए बहुत जरुरी हो जाता है.

बच्चे के जन्म के बाद जच्चा का शरीर काफी कमजोर हो जाता है इसलिए वही ताकत वापिस प्राप्त करने के लिए शरीर को काफी पोष्टिक आहार की जरुरत पड़ती है. सही पोषण और सेहतमंद खाना खाने से माँ के शरीर के साथ बच्चे को भी सही पोषक तत्व मिल जाते है. क्योकि पोषक तत्वों को ग्रहण करने से माँ के दूध की गुणवत्ता भी बढती जिसका प्रभाव बच्चे के शारीरिक और मानसिक विकास पर पड़ता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रसव के बाद शरीर की खोई उर्जा पाने के लिए नई माँ को आयरन, विटामिन, प्रोटीन तथा डीएच यानी ओमेगा-3 आदि पोषक तत्वों की जरुरत होती है. ये पोषक तत्व माँ और बच्चा दोनों की सेहत के लिए अहम् होते है. इन पोषक तत्वों के आभाव में माँ के शरीर में खून की कमी हो जाती है और माँ अन्य कई बीमारियों की चपेट में आ जाती है. इसका असर नवजात के ऊपर भी पड़ना लाजिमी है.

बच्चे के जन्म के बाद महिलाओं को पानी पहले से अधिक पीना चाहिए. शरीर के भीतर पानी जितना अधिक मात्रा में होगा , दूध बनने में उतनी ही आसानी होगी. अगर आपको सादा पानी पीने में परेशानी होती है तो आप पानी में निम्बू या पुदीने का रस भी मिला सकती है. इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में कैल्शियम की कमी हो जाती है. जिससे हड्डिया कमजोर हो जाती है.

इस कमी को दूर करने के लिए महिलाओं को अपनी डाइट में दूध , दही , ब्रोकली, बादाम, तिल , सोयाबीन से बने अन्य उत्पादों का सेवन करना चाहिए. अनाज एवं हरी पत्तेदार सब्जियों को खाने से शरीर को सभी आवश्यक पोषक तत्व व् विटामिन मिल जाते है. इस समय सबसे ज्यादा जरुरत विटामिन बी की होती है जो शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करने में सहायक होता है. इसके लिए ओट्स, दाल व् हरी सब्जियों को अपने खाने में शामिल करे.

Loading...