rajb

योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री और सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने भाजपा को बड़ा झटका देते हुए BJP से अलग चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी बीजेपी से अलग होकर चुनाव लड़ेगी। इसके लिए वे 25 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेंगे, जिनकी घोषणा आज ही की जाएगी।

इसी कड़ी में राजभर आज अपना इस्तीफा सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद सौंप देंगे। बताया जा रहा है कि राजभर ने सीएम योगी से मिलने का वक्त मांगा है। कैबिनेट मंत्री राजभर के साथ उनके पुत्र अरविंद राजभर जो लघु उद्योग निगम के चेयरमैन हैं वो भी अपना इस्तीफा सीएम को देंगे। वहीं उनकी सुहेलदेव पार्टी के 6 सदस्यों ने भी निगम पद से इस्तीफे की पेशकश की है।

बता दें कि मंत्री ओम प्रकाश राजभर बीजेपी के साथ समझौते में पूर्वांचल की 5 सीटों की मांग कर रहे हैं। इन सीटों में सुरक्षित सीट लालगंज और मछली शहर में से कोई एक तथा सामान्य सीट घोसी, अंबेडकरनगर, जौनपुर और चंदौली हैं।

bjp

ओमप्रकाश राजभर दलित समाज से आते हैं और उनकी पार्टी पूर्वांचल में अपना दखल रखती है। 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में राजभर की पार्टी ने 4 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जिसके एवज में ओमप्रकाश राजभर को योगी कैबिनेट में मंत्री बनने का अवसर दिया गया।

राजभर की पार्टी का जनाधार पूर्वांचल के बलिया, गाजीपुर, मऊ और वाराणसी क्षेत्र में है।  कांग्रेस ने भी पूर्वी यूपी पर विशेष तौर पर फोकस किया है और प्रियंका गांधी को पूर्वी यूपी का प्रभारी बनाना भी इसी कड़ी का हिस्सा माना जाता है। ऐसे में बीजेपी नहीं चाहेगी कि पूर्वांचल में राजभर की नाराजगी उनके लिए परेशानी का सबब बने।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें