Will write the bride's dowry as' official duty will then

लखनऊ,दहेज और कन्या भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक बुराइयों को समाप्त करने के लिए यूपी सरकार ने नई व्यवस्था शुरू की है। सरकारी नौकरी देने से पहले सरकार अब नौजवानों से इस बाबत शपथपत्र ले रही है कि वह दहेज नहीं लेंगे।

सरकारी विभागों में नियुक्त होने वाले कनिष्ठ लिपिकों से शपथपत्र मांगा जा रहा है। उम्मीदवारों को शपथ देना अनिवार्य है। इसमें एक से ज्यादा शादी न करने की भी शपथ मांगी गई है।

हाल ही में प्रदेश में उत्तर प्रदेश स्टेट सबोर्डिनेट सर्विस कमीशन (यूपीएसएसएससी) की ओर से सरकारी विभागों में खाली पड़े कनिष्ठ लिपिक पदों पर भर्ती प्रक्रिया हुई थी। मापतौल विभाग में करीब 20 पद हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

विभाग ने नवनियुक्त होने वाले कनिष्ठ लिपिकों से दहेज न लेने का शपथ मांगा है। अभ्यर्थियों को शपथ पत्र पर दहेज प्रतिषेद अधिनियम 1961 एवं उत्तर प्रदेश दहेज प्रतिषेद नियमावली 1999 के तहत शपथ लेनी होगी कि वह नियुक्ति के बाद अपनी शादी में दहेज नहीं लेंगे।

साभार अमर उजाला