The Vice President of India Mohammad Hamid Ansari addressing after released a book on Naushad titled “Zarra Zo Aftab Bana” authored by Chaudhury Zia Imam in New Delhi on May 26, 2008.

देश भर में मुस्लिमों पर हो रहे हमलों के संदर्भ में उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का बड़ा ब्यान आया है. उन्होंने कहा कि देश के मुस्लिम समुदाय में आज असुरक्षा और घबराहट का माहौल है.

राज्यसभा टीवी को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि ‘ये आकलन सही है कि देश के मुस्लिम समुदाय में आज घबराहट और असुरक्षा का भाव है. देश के अलग-अलग हिस्सों में मुझे ऐसी बातें सुनने को मिलती हैं.’

उन्होने कहा, इस देश का समाज सदियों से बहुलतावादी रहा है, लेकिन अब यह माहौल खतरे में है. लोगों की भारतीयता पर सवाल खड़े करने की प्रवृत्ति भी बेहद चिंताजनक है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उपराष्ट्रपति ने कहा, भीड़ के लोगों पर बढ़ते हमले, हत्याएं और कथित घर वापसी के मामले देश के मूल्यों में आ रहे विघटन का बड़ा उदाहरण हैं. इनसे यह भी पता लगता है कि अधिकारियों की कानून व्यवस्था लागू करने की क्षमता खत्म होती जा रही है.

तीन तलाक ‘ के मुद्दे पर अंसारी ने कहा कि यह एक ‘सामाजिक विचलन’ है, कोई धार्मिक जरूरत नहीं. धार्मिक जरूरत बिल्कुल स्पष्ट है, इस बारे में कोई दो राय नहीं है लेकिन पितृसत्ता, सामाजिक रीति-रिवाज इसमें घुसकर हालात को ऐसा बना चुके हैं जो अत्यंत अवांछित है.’

उन्होंने कहा कि अदालतों को इस मामले में दखल नहीं देना चाहिए, क्योंकि सुधार समुदाय के भीतर से ही होंगे. कश्मीर मुद्दे पर अंसारी ने कहा कि यह राजनीतिक समस्या है और इसका राजनीतिक समाधान ही होना चाहिए.

Loading...