tripura 625x300 1530848168355

देश भर मे अफवाहों का दौर जारी है। लोगों को पीट-पीट कर मारने की घटनायें रुकने का नाम नहीं ले रही है। अब तक 28 से ज्यादा की इन घटनाओं मे जान जा चुकी है। बावजूद त्रिपुरा के शिक्षामंत्री ने अफवाहों को हवा दी और नतीजा ये हुआ कि दो दिनों में 4 और लोगों की जान चली गई।

त्रिपुरा में बीजेपी सरकार के शिक्षामंत्री रतन लाल नाथ ने 10 दिन पहले 11 साल के बच्चे के अगवा होने के मामले मे कहा कि अगवा बच्ची के शव पर दो कट लगे थे जहां से गुर्दे निकाले गये ये भयानक है। मंत्री के बयान के 48 घंटे के भीतर इस फेक न्यूज़ ने 4 लोगों की जान ले ली।

दरअसल, पुलिस का ये कहना है कि ये सच नहीं है। बच्ची के शरीर मे किडनी पाई गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि किडनी और लीवर शरीर के भीतर ही थे। जब बात बड़ी तो मंत्री जी ने विपक्ष पर डाल अपना पल्ला झाड़ लिया। ऐसे मे हैरानी इस बात की है कि ऐसे लोग फेक न्यूज को बढ़ावा देते हैं जिन पर कानून की हिफ़ाजत की जिम्मेदारी है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

lyn

एक कलाकार सुकांत चक्रवर्ती जो इस वीडियो में पिटते दिख रहे हैं। वो सरकार के कहने पर फेक न्यूज के खिलाफ जागरूकता फैला रहे थे। इस मामले में 20 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। फिलहाल सरकार भले ही फेक न्यूज से लड़ने की बात करे लेकिन पहले उसे अपने मंत्रियों पर लगाम लगानी होगी जो गैर जिम्मेदाराना बयान देते हैं।

दूसरी और राज्य के मुख्यमंत्री बिप्लब देब लिचिंग पर कहते है कि “मुझे लगता है कि आप सभी को सोचना चाहिए कि आज यह त्रिपुरा में खुशी की लहर है। आपको इस खुशी की लहर का आनंद लेना चाहिए और आप खुश हो जाओगे। आपको एक बार सोचना चाहिए, मेरे चेहरे को देखो, मैं कितना खुश हूं।”

Loading...