13 08 2018 abhishekbanarjee 18312050

कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह को कानूनी नोटिस भेजा है। यह नोटिस 11 अगस्‍त को कोलकाता में आयोजित रैली में अपमानजनक बयान के बाद भेजा गया है।

दरअसल, एनआरसी के मुद्दे पर हंगामे के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पिछले दिनों कोलकाता में रैली के दौरान बांग्लादेशी घुसपैठियों का मुद्दा उठाया था। उन्होने कहा था, बांग्लादेशी घुसपैठिए ममता बनर्जी का वोटबैंक हैं इसीलिए टीएमसी एनआरसी का विरोध कर रही है। अमित शाह ने कहा था कि टीएमसी के शासन में बम बनाने के कारखाने खुलते जा रहे हैं।

राज्य सरकार पर आरोप लगाते हुए हुए उन्होने कहा था कि सरकार चाहती है कि बीजेपी की आवाज जनता तक न पहुंचे इसलिए सरकार ने बंगाली चैनलों को भी बंद करा दिया है। बीजेपी अध्यक्ष ने कोलकाता में बीजेपी विरोधी पोस्टरों का भी जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी बंगाल विरोधी नहीं हो सकती, बीजेपी के संस्थापक खुद बंगाली थे, लेकिन बीजेपी ममता विरोधी जरूर है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस भाषण के तुरंत बाद ही टीएमसी ने अमित शाह को 72 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए माफी मांगने को कहा था। अमित शाह के भाषण पर टीएमसी के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने कहा था कि अमित शाह बंगाल की संस्कृति नहीं जानते। जो कुछ भी उन्होंने कहा है वो बंगालियों का अपमान है।

उन्होंने अमित शाह की रैली को फ्लॉप बताते हुए उन्हें माफी मांगने का अल्टीमेटम भी दिया था। और आज टीएमसी के सांसद ने अभिषेक बनर्जी ने अपमानजनक बयान देने के लिए कानूनी नोटिस भेज दिया है।

Loading...