img 20180825 230818477370980

तेलंगाना सरकार ने राज्य के मंदिरों में पुजारियों को सरकारी कर्मचारी के बराबर वेतन देने की घोषणा की है। इसके अलावा मस्जिदों के इमाम और मुअज़्ज़िनो को 5,000 रुपये सैलरी देने का ऐलान किया है।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने घोषणा की कि एक सितंबर से राज्य के पुजारियों को सरकार कर्मचारियों के तर्ज पर सैलरी जी जाएगी साथ ही इमाम और मुआज्जिनो को भी 5,000 रुपये हर महीने दिया जाएगा।

इतना ही नहीं जब भी सरकारी कर्मचारियों की सैलरी में कोई बदलाव होगा तो वही ‘अर्चकों’ पर भी लागू होगा। अर्चक, हिन्दू मंदिरों में पूजा कराते हैं और धर्म विभाग नियम के तहत आते हैं। राव ने कहा कि इनके रिटारयमेंट की उम्र 58 की जगह 65 साल होगी।

तेलंगाना सरकार इमाम और मुआज्जिनो को पहले से ही 1,000 रुपये महीना देती थी। इसके बाद इसे बढ़ाकर पंद्रह सौ रुपये कर दिया गया था।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने ऐलान किया था कि हर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों को उनके घरेलू उपयोग के लिए 101 यूनिट तक फ्री बिजली दी गई, यह पहले 50 यूनिट था।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें