तेज बहादुर वाराणसी से लड़ेंगे पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव, बीएसएफ के खाने की शिकायत की थी

रेवाड़ी: बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) में खराब खाने पर सवाल उठाने वाले जवान तेज बहादुर यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनान लड़ने का ऐलान किया है। तेज बहादुर का कहना है कि वह वाराणसी संसदीय सीट से मोदी के खिलाफ चुनाव लड़कर सेना में हो रहे भ्रष्टाचार को खत्म करेंगे।

तेज बहादुर ने बताया कि वह कई महीनों से चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। वाराणसी के एक हजार से अधिक लोग उनके संपर्क में हैं। उन्होंने बनारस की वोटर लिस्ट में नाम भी दर्ज करवा लिया है। वह जल्द ही अपनी टीम के साथ बनारस के लिए रवाना होंगे। बता दें कि तेज बहादुर ने बीएसएफ में मिल रहे खाने को घटिया बताते हुए विडियोज बनाए थे। सोशल मीडिया पर आने के बाद वे सभी विडियोज वायरल हो गए थे। जिसके बाद तेज बहादुर चर्चा में आ गए।

उन्होंने कहा, “भ्रष्टाचार की आवाज उठाने की सज़ा मुझे सेना से बर्खास्त करके दी गई। मोदी जी भ्रष्टाचार मुक्त भारत की बात करते थे, उन्हीं को देखते हुए मैंने सेना में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर आवाज़ उठाई थी। सेना को मिलने वाले खाने को लेकर वीडियो वायरल किया था। जिसकी सज़ा मुझे सेना से बर्खास्त करके दी गई। अब मैं लोकसभा चुनाव वाराणसी से मोदी के खिलाफ लड़कर फिर से भ्रष्टाचार मुक्त करने की आवाज उठाऊंगा।”

बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव के 22 वर्षीय बेटे रोहित ने भी इसी साल जनवरी में सुसाइड कर लिया था। रोहित ने खुद को गोली मार ली थी। रोहित दिल्ली विश्वविद्यालय में बीए प्रथम वर्ष का छात्र था।

विज्ञापन