सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने मांगे पूरी करने का आश्वासन दिया है. जिसके बाद शिक्षामित्र अपना आन्दोलन छोड़ बुधवार से स्कूलों में काम पर लौट गए.

दरअसल योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को शिक्षामित्रों के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की थी. प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से शिक्षामित्रों के समायोजन को लेकर सदन में नया आधिनियम पारित करने, जब तक शिक्षा मित्र टीईटी न पास करे, तब तक वेतन की धनराशि मानदेय के रूप में दिए जाने, प्रदर्शन के दौरान मारे गए या आत्महत्या करने वाले शिक्षा मित्रों के परिवारों को मुआवजा दिए जाने की मांग भी रखी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इससे पहले शिक्षामित्रों ने मांगे न पूरी होने पर योगी सरकार को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हिंदू धर्म का त्याग कर इस्लाम कबूल करने की धमकी दी थी. शिक्षामित्रों ने प्रशासन को शपथ पत्र देकर कहा था, यदि उनकी समस्या का समाधान न हुआ तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से राष्ट्र को सम्बोधित कर रहे होंगे, उसी समय शिक्षामित्र हिन्दू धर्म का परित्याग कर स्वेच्छा से इस्लाम कबूल करेंगे.

हालांकि आश्वासन मिलने के बाद शिक्षा मित्रों ने ऐलान किया है कि यदि दो सप्ताह के भीतर समाधान नहीं निकला तो वे फिर सड़कों पर उतरेंगे.

Loading...