बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए कहा कि सयुंक्त राष्ट्र की निगरानी में रोहिग्याओं को म्यांमार में दुबारा बसाया जाए.

शेख हसीना ने कहा कि रोहिंग्या मुस्लिमों को रक्षा, सुरक्षा और सम्मान के साथ स्वदेश लौटना चाहिए. उन्होंने इस दौरान म्यांमार में सेफ जोन बनाने का भी प्रस्ताव दिया.

उन्होंने कहा कि यूएन की निगरानी में म्यांमार में  सुरक्षित जोन बनाया जाए. उसके बाद सयुंक्त राष्ट्र की निगरानी में रोहिग्याओं को म्यांमार में दुबारा बसाया जाए.

बांग्लादेश प्रधानमंत्री ने म्यांमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि रोहिंग्या को स्वदेश लौटने से रोकने के लिए म्यांमार के प्रशासन ने सीमा पर बारुदी सुरंगें बिछा दी हैं.

उन्होंने म्यांमार को संबोधित करते हुए कहा है कि वे आपके नागरिक हैं, आपको उन्हें वापस लेना होगा, उन्हें सुरक्षित रखना होगा, उन्हें आश्रय देना होगा, कोई उत्पीड़न और यातना नहीं होना चाहिए.

प्रधान मंत्री हसीना ने मुसलमान देशों से “जरूरी मानवतावादी सहायता” की मांग की. उन्होंने कहा, “यह असहनीय मानव विपत्ति है. मैंने उनसे मुलाकात की है और उनके गंभीर कष्ट, विशेष रूप से महिलाओं और बच्चों की कहानियां सुनी हैं.”

 

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?