लन्दन स्थित पत्रकारों और रिपोर्टरों के संगठन ने अल-मसीरा चेनल पर प्रतिबंध की आलोचना की!

न्यूज चेनल अल-मसिरा ने बताया के “अल-मसीरा चेनल पर प्रतिबंध लगाने का कारण यमन में सऊदी अरब और उसके सह्योगयों के अपराधों के खिलाफ उठने वाली आवाज़ को दबाना हे, पत्रकार संगठन ने अल-मसीरा के कार्यकर्ताओं के साथ एकजुटता की घोषणा करते हुए कहा के सऊदी अरब की ये करवाई अभिव्यक्ति की सवतंत्रता और मानव अधिकार के खिलाफ है, और सभी मानव अधिकार संगठनो से इस करवाई पर साथ देने की अपील की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ये कोई पहली बार नहीं हुआ हे के सऊदी अरब ने आपने बिरोधी चेनलों के खिलाफ ताक़त का प्रयोग किया हो, बलके इस से पहले भी सऊदी चेनल “अल-मयादीन” इस के हमले का शिकार हुआ था, और सऊदी ने लेबनान सरकार पर इस चेनल के अरब प्रसारित कार्यक्रम पर प्रतिबंध का दवाब बनाया था.