केरल के पूर्व सीपीएम लोकसभा सांसद एपी अब्दुल्लाकुट्टी ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सेक्युलर वोटों का विभाजन करने के लिए प्रकाश करात को बीजेपी ने 100 करोड़ रुपए दिये है। वह हाल में संपन्न हुए राजस्थान चुनाव में काम कर रहे थे।

1999 से 2009 तक कन्नूर लोकसभा चुनाव क्षेत्र से सांसद रहे अब्दुल्लाकुट्टी ने कहा कि उनके दिल्ली में पुराने दोस्त ने राष्ट्रीय राजधानी में नोटिस किया कि सीपीएम राजस्थान में वोटों को विभाजित कर भाजपा की मदद कर रही है, जबकि ये वोट कांग्रेस के खाते में जाते।

Loading...

साल 2009 में कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व सांसद ने आगे कहा, ‘राजस्थान में सिर्फ 28 उम्मीदवार मैदान में उतारकर, सीपीएम ने लगभग चार लाख धर्मनिरपेक्ष वोटों को विभाजित करने में मदद की। यह सीपीएम की उपस्थिति थी जिसने तीन विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा को जिताने में मदद की।

पीलीबंगा में भाजपा के धर्मेंद्र कुमार ने कांग्रेस उम्मीदवार को महज 278 वोटों से हराया। यहं सीपीएम उम्मीदवार को 2659 धर्मनिरपेक्ष वोट मिले। हालांकि ज्यादातर क्षेत्रों में पार्टी अपनी जमानत भी ना बचा सकी। यहां उन्होंने शानदार खेल खेला जहां पार्टी करोड़ों कमा रही है।’

bjp

बता दें कि अब्दुल्लाकुट्टी को साल 2009 में राज्य नेतृत्व से गंभीर मतभेद के चलते पार्टी से निकाल दिया गया था। बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए और पार्टी टिकट पर कन्नूर विधानसभा उप चुनाव जीता।

2011 में भी उन्होंने इसी निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव जीता और अपने करीबी सीपीएम प्रतिद्वंदी को हराया। साल 2016 में उन्हें थालास्सेरी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ाया गया जहां से उन्हें सीपीएम के एएन शमसीर से हार का सामना करना पड़ा।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें