उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने एक बार फिर पाकिस्तान के कायदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना की तारीफ़ की. उन्होंने कहा कि बंटवारे के लिए सिर्फ जिन्ना जिम्मेदार नहीं है.

उन्होंने कहा है कि देश के बंटवारे के लिए मोहम्मद अली जिन्ना ही नहीं बल्कि पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरदार पटेल भी जिम्मेदार थे. स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा, ‘गांधी, नेहरू और पटेल की तरह जिन्ना भी भारत की आजादी के लिए लड़े थे.’

आंबेडकरनगर जिले में शनिवार रात को पत्रकारों से बातचीत में मौर्या ने कहा, ‘यह सिर्फ जिन्ना की तस्वीर हटाने के लिए नहीं है, जो आजादी के पहले से यहां लगी हुई है. यहां बंटवारे के ड्राफ्ट में गांधी, नेहरू और पटेल के साथ जिन्ना के भी हस्ताक्षर हैं.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

jinnah

पूर्व में अपने बयान पर सफाई देते हुए वह बोले, “मेरे पिछले बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया. मैंने कहा था कि देश के बंटवारे के पूर्व में अगर उनकी मूर्ति (जिन्ना) लगी है, तो उसे हटाने का कोई औचित्य नहीं है.”

बता दें कि मौर्या ने इससे पहले कहा था, ‘जिन महापुरुषों का योगदान इस राष्ट्र के निर्माण में रहा है, यदि उन पर कोई उंगली उठाता है तो यह घटिया बात है. देश के बंटवारे से पहले जिन्ना का योगदान भी इस देश में था.’

मौर्या ने यह भी कहा था कि इस प्रकार के बकवास बयान, चाहें उनके दल के सांसद-विधायक दें या दूसरे दलों के, उनकी लोकतंत्र में मान्यता नहीं है.

Loading...