वाशिंगटन | रविवार को उत्तर कोरिया द्वारा बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण करने के बाद अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया ने बेहद कड़ी प्रतिक्रिया दी है. इस मामले में, तीनो देशो ने, संयुक्त राष्ट्र से आपात बैठक बुलाने की मांग की है. उधर उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण के बाद कहा है की इससे देश की ताकत में भारी इजाफा हुआ है. हालांकि अभी पुरे मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की और से कोई प्रतिक्रिया नही आई है.

सोमवार सुबह उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए ने बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण की पुष्टि करते हुए कहा की सतह से सतह पर मार करने वाली एक मध्यम से लम्बी दुरी की बैलिस्टिक मिसाइल पुकगुकसोंग-2 का रविवार को सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया गया. केसीएनए ने इसे कोरियाई शैली की नयी रणनीतिक हथियार प्रणाली बताया है.

न्यूज़ एजेंसी के अनुसार यह पूरा परीक्षण उत्तर कोरियाई शासक किम जोंग की देख रेख में किया गया. उन्होंने मिसाइल के सफल परीक्षण पर अत्यधिक संतुष्टि जाहिर की. उधर उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया भड़क गया है. तीनो देशो ने यूएन से मांग की है की वो उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण पर चर्चा करने के लिए आपात बैठक बुलाये.

अमेरिका की और से जारी बयान में कहा गया की हमने दक्षिण कोरिया और जापान ने मिलकर संयुक्त राष्ट्र से आपात बैठक बुलाने की मांग की है. उम्मीद है यह बैठक सोमवार दोपहर को आयोजित की जाए. उधर दक्षिण कोरिया रक्षा मंत्रालय ने कहा की उत्तर कोरिया की बैलिस्टिक मिसाइल ने समुन्द्र में गिरने से पहले करीब 500 किलोमीटर की दूरी तय की. डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने के बाद , उत्तर कोरिया की और से यह पहला मिसाइल परीक्षण है. अब सबकी निगाहें ट्रम्प की प्रतिक्रिया की और है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें