अल-नूर मस्जिद के इमाम ने कहा – मस्जिदों पर हम’ले से दिल जरूर टूटा लेकिन हौसला नहीं

7:24 pm Published by:-Hindi News

पिछले शुक्रवार को न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दो मस्जिदों में एक आतंकी हमले में 50 लोगों की मौत के बाद एक सप्ताह बाद आज अल नूर मस्जिद में शुक्रवार की नमाज अदा की गई। इस दौरान मस्जिद के इमाम ने कहा कि हमले ने देशवासियों का दिल भले ही तोड़ दिया है लेकिन उनका हौसला नहीं टूटा है।

क्राइस्टचर्च में अल नूर समेत दो मस्जिदों पर हुए हमले के पीड़ितों के प्रति एकजुटता दिखाने के लिए शुक्रवार को अजान का और नमाज का सीधा प्रसारण किया गया। देश भर के लोगों ने टीवी पर अपराह्न डेढ़ बजे अजान का सीधा प्रसारण देखा। इसके बाद दो मिनट का मौन रखा गया। इस दौरान न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न समेत हजारों लोग अल नूर मस्जिद के सामने हैगले पार्क में एकत्र हुए।

अल नूर मस्जिद के इमाम गमला फाउदा ने न्यूजीलैंडवासियों का उनके सहयोग के लिए धन्यवाद किया। इमाम ने कहा, ‘‘यह आतंकवादी अपनी दुष्ट विचारधारा से हमारे देश को तोड़ना चाहता था।… लेकिन हमने दिखाया है कि न्यूजीलैंड को तोड़ा नहीं जा सकता।’’

उन्होंने हैगले पार्क में मौजूद करीब 20000 लोगों की भीड़ के बीच कहा, ‘‘हमारा दिल टूटा है लेकिन हम नहीं टूटे। हम जीवित हैं। हम साथ हैं। हम किसी को हमें अलग नहीं करने देंगे।’’ अर्डर्न ने कहा, ‘‘न्यूजीलैंड इस शोक में आपके साथ है।’’

ब्रिटेन के र्बमिंघम शहर की पांच मस्जिदों पर हमला

ब्रिटेन के र्बमिंघम शहर की पांच मस्जिदों पर रात के समय हमला किया गया, जिसके बाद आतंकवाद-रोधी इकाई के अधिकारियों और स्थानीय पुलिस ने जांच शुरू की। मिडलैंड्स पुलिस को खबर मिली थी कि एक व्यक्ति बर्चफील्ड रोड पर जामे मस्जिद की खिड़कियां तोड़ रहा है और उसके कुछ ही देर बाद शहर के एर्डिंगटन इलाके में एक मस्जिद पर भी ऐसा ही हमला होने की खबर मिली। माना जा रहा है कि इन हमलों का आपस में संबंध है।

वेस्ट मिडलैंड्स के पुलिस प्रमुख कांस्टेबल डेव थॉम्पसन ने कहा,  मैं कह सकता हूं कि घटना के लिए जिम्मेदार लोगों का पता लगाने के लिए पुलिस और आतंकवादी-रोधी इकाई कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही है। उन्होंने कहा, न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में दुखद घटनाओं के बाद से वेस्ट मिडलैंड्स पुलिस के अधिकारी और कर्मचारी क्षेत्र भर में हमारे धर्म भागीदारों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं ताकि मस्जिदों, चर्चों और प्रार्थना के स्थानों को सुरक्षा का आश्वासन और समर्थन दिया जा सके।

थॉम्पसन ने कहा, हमारे समाज में इस तरह के हमलों के लिए कोई जगह नहीं है और इन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मैं लोगों को फिर से भरोसा दिलाना चाहता हूं कि वेस्ट मिड्सलैंड पुलिस गुनाहगारों को न्याय के कटघरे में लाने के लिए वह सबकुछ कर रही है जो किया जा सकता है। ब्रिटेन के गृह मंत्री साजिद जावेद ने ट्वीट किया, र्बिमंघम में रात के समय मस्जिदों में तोडफ़ोड़ की घटनाओं की खबर सुनकर चिंतत एवं विक्षुब्ध हूं।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें