नई दिल्ली | अजमेर में हर साल होने वाले ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के उर्स की सभी तैयारिया पूरी कर ली गयी है. इस बार दरगाह पर चादर चढाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने भी चादर भेजी है. इस साल ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती का 805वा उर्स मनाया जा रहा है.

उर्स के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने अपने दो कैबिनेट मंत्रियो मुख़्तार अब्बास नकवी और जिंतेंद्र सिंह के हाथो दरगाह पर चढाने के लिए चादर भिजवाई है. यह चादर शुक्रवार को ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती के बुलंद दरवाजे पर चढ़ायी जायेगी. इसके बाद उर्स की औपचारिक शुरुआत हो जाएगी. हालाँकि इसकी विधिवत शुरुआत 28 मार्च को रजब का चाँद दिखने के बाद होगी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उर्स को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा के पुरे इंतजाम किये हुए है. पुलिस ने बताया की इस बार पुलिस बल के साथ साथ ड्रोन के जरिये भी चप्पे चप्पे पर नजर रखी जाएगी. अजमेर शरीफ पर होने वाले इस उर्स की देश विदेश में काफी मान्यता है. यहाँ न केवल भारत से बल्कि विदेशो से भी काफी लोग आते है. इस बार 506 जायरीन पाकिस्तान से भी उर्स में शामिल होंगे.

उर्स में आने वाले लोगो को किसी मुश्किल का सामना करना न पड़े इसलिए रेलवे विभाग ने करीब 40 स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला किया है. इसके अलावा 100 अतिरिक्त बसे भी चलायी जा रही है.इसके जरिये बाहर से आने वाले लोगो को काफी राहत मिलेगी. फिलहाल उर्स की सभी तैयारिया पूरी कर ली गयी है. खबर है की उर्स में शामिल होने के लिए देश विदेश से लोग आने शुरू हो गए है. पाकिस्तान से काफी लोग उर्स में पहुँच चुके है.

Loading...