manohar lal ml khattar 650x400 61445005275

manohar lal ml khattar 650x400 61445005275

चंडीगढ़ | आजकल सत्ता में बैठे लोगो ने अपना एजेंडा लागु करने के लिए अजीब फरमान जारी करने शुरू कर दिए है. मंगलवार को जयपुर के मेयर ने नगर पालिका के सभी कर्मचारियों को सुबह राष्ट्रगान और शाम को राष्ट्रगीत गाने का आदेश दिया. अब हरियाणा की खट्टर सरकार की बारी है. उन्होंने शिक्षको के लिए बेहद ही अजीब फरमान जारी किया है. जिसके बाद शिक्षको का एक बड़ा धडा सरकार से नाराज दिखाई दे रहा है.

हालाँकि सरकार इन सबसे बेखबर अपने आदेश पर टिकी हुई है. यही नही सरकार ने विरोध कर रहे शिक्षको को कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया है. टाइम्स नाउ की खबर के अनुसार खट्टर सरकार ने शिक्षको को पुजारी की ट्रेनिंग लेने का आदेश दिया है. यह सब यमुनानगर जिले में स्थित कपाल मोचन मंदिर में लगने वाले मेले की वजह से किया जा रहा है. सरकार चाहती है की शिक्षक इस मेले में भगवान् की पूजा करे और प्रसाद बांटे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उल्लेखनीय है की हरियाणा का कपाल मोचन भारत के पवित्र स्थानों में से एक है. हर साल कार्तिक पूर्णिमा पर यहाँ मेला लगता है जिसमे लाखो श्रद्धालु शामिल होते है. बताते है की यहाँ स्थति सोम सरोवर में स्नान करने से इंसान पाप मुक्त हो जाता है. खट्टर सरकार चाहती है की राज्य के सभी शिक्षक मेले में भगवान् की पूजा करे और प्रसाद बांटे. इसके लिए सभी शिक्षको को पुजारी की ट्रेनिंग लेने का आदेश दिया गया है.

लेकिन शिक्षको का एक बड़ा धडा सरकार के आदेश से खफा है और इस आदेश को मानने से इनकार कर दिया. शिक्षको का कहना है की राज्य में शिक्षा का स्तर पहले ही गिरता जा रहा है ऊपर से सरकार चाहती है की हम विधार्थियों को पढ़ाने की बजाय पुजारी की ट्रेनिंग ले. हालाँकि सरकार इन विरोधो से बेखबर अपने आदेश पर अडी हुई है इसलिए विरोध कर रहे शिक्षको पर कड़ी कार्यवाही करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया गया.

Loading...