भाजपा (BJP) के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने शनिवार को बड़ा बयान देते हुए कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) अगले साल जनवरी से लागू हो सकता है.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस की सरकार शरणार्थियों के प्रति हमदर्दी नहीं रखती है उत्तर 24 परगना जिले में ”आर नोय अन्याय” (अन्याय और नहीं) अभियान से इतर उन्होंने पत्रकारों से कहा, ” हमें उम्मीद है कि सीएए के तहत शरणार्थियों को नागरिकता देने की प्रक्रिया अगले साल जनवरी से शुरू हो जाएगी.”

उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार ने सीएए को ईमानदार नीयत से पड़ोसी देशों से हमारे देश आए उत्पीड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए पारित किया था.’

विजयवर्गीय की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल कांग्रेस के नेता और राज्य के मंत्री फरहाद हाकिम ने कहा कि भाजपा पश्चिम बंगाल के लोगों को मूर्ख बनाने की कोशिश कर रही है. सीएए में पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से 31 दिसंबर 2014 से पहले भारत आ गए हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई, जैन और पारसी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान है.

बता दें कि 12 दिसंबर को सीएए के अधिनियमित की पहली वर्षगांठ है। यह कानून बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से 2014 तक भारत में आए गैर-मुस्लिमों को भारतीय नागरिकता प्रदान करता है। इस कानून के विरोध में पिछले साल बड़े पैमाने पर प्रदर्शन हुए थे।