लखनऊ | उत्तर प्रदेश में सात चरण में विधानसभा चुनावो के लिए मतदान संपन हो गया. करीब डेढ़ महीने से चुनाव प्रचार में लगे सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अब कुछ दिन के लिए आराम करना चाहते है. चूँकि चुनाव परिणाम आने में केवल कुछ घंटे बचे है इसके बाद उत्तर प्रदेश की राजनीती किस करवट बैठेगी , यह कहना मुश्किल होगा इसलिए अखिलेश दो दिन छुट्टी मनाने के मूड में है.

उन्होंने एक बयान में कहा भी की अभी दो दिन किसी के साथ गठबंधन नही क्योकि मैं दो दिन के लिए छुट्टी पर हूँ. लेकिन अंग्रेजी अख़बार ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को उन्होंने इंटरव्यू देते हुए सभी पहलुओ पर बात की. इस दौरान चुनाव परिणाम से लेकर साधना गुप्ता के बारे में उनसे सवाल किये गए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उत्तर प्रदेश की राजनीती अब किस करवट ले रही है, इस सवाल पर अखिलेश ने कहा की मैंने बड़ी हिम्मत से कहा की काम बोलता है. मैंने अपना पूरा प्रचार विकास के दायरे में रखा. मैं यहाँ विकास की राजनीती लेकर आया हूँ. अब लोगो को सोचना है. अगर वो अब भी धर्म-जाति को जिताते है तो हमें स्वयं से पूछना होगा की आखिर एक्सप्रेस वे क्यों बनाया.

गायत्री प्रजापति के मामले में राज्यपाल द्वारा चिट्टी लिखने पर अखिलेश ने कहा की मैंने पुलिस और जिला मजिस्ट्रेट को आदेश दिया है की वो इस पर कार्यवाही करे. पुलिस उसको ढूंढ रही है. मैंने पुलिस से कहा की वो अपने प्रयास तेज करे नही तो गलत सन्देश जायेगा. मैं नहीं कहता की राज्यपाल का पत्र अनुचित है. उन्होंने मुझे हजारो पत्र लिखे और मैंने सभी पत्रों का जवाब दिया.

साधना गुप्ता के बयान पर अखिलेश ने कहा की उनका बयान सातवे चरण से पहले है. मैं बस तीन चीजे कहना चाहूँगा की महाभारत में भी चक्रव्यूह का सातवा गढ़ सबसे अभेद था. शादी के बंधन में बंधने के लिए भी अग्नि के चारो और सात फेरे लेने पड़ते है. और तीसरा की दिल्ली से दूर रहोंगे तो सुखी रहोगे. अखिलेश से पत्रकार ने कांग्रेस के साथ गठबंधन को राष्ट्रिय स्तर पर ले जाने के बारे में भी सवाल किया.

इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की मैं राज्य में ही ठीक हूँ और राष्ट्रिय स्तर पर नही जाना चाहता लेकिन जिन जिन राज्यों में भी पार्टी को मजबूत करने की गुंजाईश होगी हम वहां काम करेंगे. कांग्रेस को ज्यादा सीट देने पर उन्होंने कहा की यह फैसला सही था. गठबंधन से सन्देश गया की हम बहुमत में आ रहे है. तभी प्रधानमंत्री जी परेशान नजर आये और उन्होंने गोदी में बैठने जैसे ब्यान तक दिए.

Loading...