nayan

nayan

कोलकाता: वर्तमान राजनीतिक हालातों पर मंथन करते हुए लेखिका नयनतारा सहगल ने हिंदुत्व को खतरनाक विचारधारा करार देते हुए कहा कि हिंदुत्व का हिन्दू धर्म से कोई लेना-देना नहीं है.

हिंदुत्व के विचार को खारिज करने का आह्वान करते हुए लेखिका ने कहा कि अभी बहुत मुश्किल हालात हैं. वर्तमान राजनीतिक हालात में, ताकतें हर तरह के विरोध और असहमति को खत्म करने का प्रयास कर रही हैं. जो लोग उनसे असहमत हैं, वे मारे जा रहे हैं. उनमें से आखिरी इंसान गौरी लंकेश थीं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं को लेकर सहगल ने कहा कि आज मवेशियों को ले जा रहे लोगों को भी मारा जा रहा है. गोमांस रखने तक के संदेह में लोगों की हत्या की जा रही है. उन्होंने कहा कि इसका उपाय यही है कि हिंदुत्व का चोला उतारकर फेंक दिया जाए और इसे दरकिनार किया जाए.

उन्होंने कहा कि हिंदू धर्म कोई आतंकवादी पंथ नहीं है और न ही यह हिंसा को बढ़ावा देता है. मौजूदा हालात न सिर्फ लेखकों के लिए, बल्कि किसी के लिए भी हित में नहीं हैं. जिसे भी वे पसंद नहीं करते, उनके खिलाफ मामले दर्ज कर देते हैं. उत्पीड़न और हत्याएं की जा रही हैं और बहुत ही खराब राजनीतिक माहौल है.

लेखिका ने कहा, हिंदुत्व हिंसा फैला रहा है. यह एक बहुत खतरनाक विचारधारा है और इसका हिंदू धर्म से कोई लेना-देना नहीं है.

Loading...