उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के डिडीहाट से एक आईएसआई एजेंट की गिरफ्तारी के बाद सीमावर्ती क्षेत्रों में हाई-अलर्ट जारी किया गया है. जिले की सीमा तिब्बत और नेपाल सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है.

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस की 7वीं वाहिनी के कमांडेंट महेंद्र प्रताप का कहना है कि तिब्बत सीमा से लगे इलाकों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. सीमा पर स्थित सभी पोस्टों में चेकिंग तेज कर दी गई है. किसी भी तरह की अवांछित गतिविधि पाए जाने पर पकड़े गए व्यक्ति को सीधे पुलिस को सौंपा जाएगा.

इसी तरह सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) ने नेपाल सीमा से लगे पैदल पुल सहित कई सीमावर्ती क्षेत्रों की सुरक्षा बढ़ा दी है. ये कदम आर्मी इंटेलीजेंस और उत्तर प्रदेश एटीएस की संयुक्त टीम द्वारा ISI एजेंट रमेश कन्याल की गिरफ्तारी के बाद उठाया गया है.

उत्तर प्रदेश आतंकवादी निरोधक दस्ते (यूपीएटीएस) की टीम रमेश सिंह कन्याल को हिरासत में लेकर अपने साथ लखनऊ ले गई है. वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से पैसे के बदले गोपनीय जानकारियां साझा करता था.

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार ने बताया कि बुधवार सुबह पिथौरागढ़ पुलिस की सहायता से यूपी एटीएस ने रमेश कन्याल को उसके घर से दबोचा है. उन्होंने बताया कि रमेश कन्याल का भाई भारतीय सेना में तैनात है. कुछ साल पहले उसके भाई ने भारतीय सेना में तैनात एक ब्रिगेडियर के घर नौकरी पर लगवाया था. कुछ समय बाद ब्रिगेडियर की पाकिस्तान स्थित भारतीय दूतावास में पोस्टिंग हो गई.

घर के कामकाज में रमेश कन्याल अच्छा था, इसलिए ब्रिगेडियर उसे भी पाकिस्तान ले गए. आरोप है कि वहां रमेश पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के संपर्क में आ गया. इस दौरान वह सूचनाएं पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को देता रहा.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें