रोहिंग्या संकट को लेकर बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना ने इशारों ही इशारों में म्यांमार को युद्ध की चेतावनी दी है. उन्होंने म्यांमार का नाम लिए बिना कहा कि ऐसा लगता है कि पड़ोसी देश हमारे खिलाफ युद्ध लड़ेगा.

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा से भाग लेने के बाद ढाका पहुंचते ही उन्होंने कहा, “सेना, सीमा रक्षक और पुलिस को सतर्क रहने को कहा गया है, हालांकि मैंने अपने आदेश में कहा कि बिना मेरी इजाजत के कोई कार्रवाई नहीं की जाए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल, म्यांमार से रोहिंग्या मुस्लिमों का पलायन लगातार जारी है. जिसकों लेकर बांग्लादेश कई बार म्यांमार को चेतावनी जारी कर चूका है. इसके अलावा म्यांमार पर बांग्लादेश की वायुसीमा के भी उल्लंघन के आरोप लग रहे है.

हसीना ने कहा कि वायु सीमा का उल्लंघन रोहिंग्या संकट से ध्यान हटाने के लिए किया जा रहा है, ऐसे में बहुत सावधानी रखने की जरुरत है. बार-बार एयरस्पेस उल्लंघन की घटनाओं के तुरंत बाद, ढाका ने पई ताव को चेतावनी दी है.

अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के मुताबिक अगस्त के अंत के बाद से छह हफ्ते में करीब 515,000 रोहिंग्या बांग्लादेश में आ चुके है. एक अनुमान के मुताबिक रोज़ाना 2000 रोहिंग्या बांग्लादेश आ रहे है.