har

नोटबंदी के फैसले को 24 दिन गुजर चुके हैं लेकिन देश की जनता की समस्यायों का कोई समाधान नहीं हुआ हैं. बैंकों के बाहर लाइन में भीड़ कम हो नहीं रही हैं. वहीँ बैंकों और ATM में नगदी नहीं हैं. जिन बैंकों में नगदी हैं उनमे से 2000 रु के नोट मिल रहे हैं. जिनका चेंज नहीं मिल पाने की वजह से इस्तेमाल करने में परेशानी आ रही हैं.

इन्ही परेशानियों के बीच पानीपत में एक बुजुर्ग अपनी पत्नी की मौत के बाद घर पर लाश छोड़कर अंतिम संस्कार के लिए नगदी लेने बैंक पंहुचा. लेकिन पांच घंटे लाइन में लगने के बाद भी जब उसे नगदी नहीं मिली तो उसका सब्र जवाब दे गया. आखिर में उसने मीडिया को अपनी परेशानी बताई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया के हस्तक्षेप के बाद बुजुर्ग को नगदी मिली. नगदी मिलते ही बुजुर्ग पैदल ही घर की तरफ दौड़ पड़ा. और घर पहुँचते ही पत्नी के अंतिम संस्कार की तैयारी में लग गया.

बुजुर्ग ने बताया की उसकी पत्नी पिछले काफी समय से बीमार थी और गुरुवार को उसकी इस लंबी बीमारी के चलते निधन हो गया और उसके अंतिम संस्कार के लिए उसके पास पैसे नहीं थे.

Loading...