अमेरिका द्वारा अफगानिस्तान में किये गए गैर-परमाणु बम हमले पर अफगानिस्तान ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अमेरिका की ये कारवाई आतंकियों के विरुद्ध न होकर अफगानियों के विरुद्ध हैं.

अफ़ग़ानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने अमरीकी सेना की ओर से अफ़ग़ानिस्तान में सबसे बड़े ग़ैर परमाणु बम गिराए जाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि अमरीका ने जो किया है वह आतंकवादियों के विरुद्ध युद्ध नहीं बल्कि अमानीय कार्यवाही है.

करज़ई ने कहा कि अमरीका, अफ़ग़ानिस्तान को नये और ख़तरनाक हथियारों के टेस्टिंग ग्राउंड के रूप में प्रयोग कर रहा है.उन्होंने कहा कि अमरीका की इस प्रकार की कार्यवाही के विरुद्ध अफ़ग़ानिस्तान को उठ खड़ा होना होगा और उसे रोकना होगा

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गौरतलब रहें कि आईएस पर हमले का बहाना बनाकर गुरुवार की शाम लगभग सात बजे अफ़ग़ानिस्तान में नंगरहार केअचन ज़िले में 16 वर्षीय युद्ध के दौरान पहली बार सबसे बड़ा ग़ैर परमाणु ख़तरनाक बम का प्रयोग किया. 21600 पौंड (9,797 किलो) वजनी जीपीएस गाइडेड एमओएबी अमेरिका का सबसे शक्तिशाली गैर परमाणु बम है.

Loading...