Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

पवित्र कुरान का अपमान एक अक्षम्य अपराध, भारत सरकार वेब सीरीज नवरस को करे प्रतिबंधित

- Advertisement -
- Advertisement -

दिलशाद नूर 

मुंबई । रजा एकेडमी के संस्थापक और प्रमुख असीर मुफ्ती ए आजम अल्हाज मोहम्मद सईद नूरी को जब पता चला कि  वेब सीरीज नवरस के विज्ञापन में पवित्र कुरान को अपवित्र किया गया है। दरअसल नवरस के बैनर में कुरान की आयतें चिपकाकर एक जघन्य अपराध किया गया है, जिससे मुसलमानों का दिल दुखा है।

सईद नूरी ने कहा कि इस जघन्य अपराध में फिल्म के निर्माता का हाथ है। उन्होंने कहा कि आज जब पूरी दुनिया आर्थिक मंदी से जूझ रही है, खासकर हमारा देश गरीबी, महंगाई और बेरोजगारी से जूझ रहा है, ऐसे में कुरान से छेड़छाड़ देश में आग लगाने से कम नहीं है, यह एक शांतिपूर्ण समाज को अस्थिर करने की एक सुविचारित साजिश का हिस्सा है, जो लंबे समय से कुरान विरोधी और इस्लाम विरोधी वैश्विक शक्तियों का आदर्श रहा है। यदि पवित्र कुरान के अपमान के परिणामस्वरूप भारत में कुछ भी अप्रिय घटना होती है तो सरकार, निर्देशक, निर्माता और उक्त फिल्म कंपनी इसके लिए जिम्मेदार होगी।

रजा एकेडमी के प्रमुख मोहम्मद सईद नूरी ने कड़े लहजे में कहा कि भारत सरकार को ऐसी स्थिति में शांति बनाए रखने के लिए सख्त कदम उठाने की जरूरत है। रजा एकेडमी सहित हर मुसलमान की मांग है कि इस अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए और ऐसी दुखद घटनाओं को रोका जाए। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक प्रभावी कानून बनाया जाना चाहिए ताकि ऐसे भविष्य में कोई घटना न हो।

उन्होंने कहा कि यह कोई नई बात नहीं है। वर्षों से, पश्चिमी और पूर्वी दुनिया में इस्लाम विरोधी चरमपंथ कुरान, इस्लाम और इस्लाम के पैगंबर की महिमा का अपमान करने की हिम्मत करते रहे हैं। वे नहीं जानते कि पूरी दुनिया के मुसलमान सब कुछ सहन कर सकते हैं लेकीन अपने नबी के सम्मान और इस्लाम का अपमान कोई भी बर्दाश्त नहीं कर सकता इसलिए फिल्म नवरसा के निर्देशक को तुरंत माफी मांगनी चाहिए और फिल्म से जुड़े विज्ञापन को ट्विटर साइट से हटा देना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles