Sunday, January 23, 2022

भवानीमंडी: मूल, जाति प्रमाण-पत्र के अभाव में सैकड़ों छात्रों का भविष्य अधर में

- Advertisement -
  • सैकड़ों छात्रों का भविष्य अधर में, विद्यार्थी से लेकर शोधार्थी तक शामिल
  • मूल, अल्पसंख्यक, जाति प्रमाण-पत्र के अभाव में छात्रवृति जाने का भय
  • छात्रवृति के आवेदनों की सत्यापन की अंतिम तारीख में सिर्फ दो दिन शेष
  • अधिकारियों को प्रमाण-पत्र जारी करने में दिखानी होगी तत्परता

भवानीमंडी/झालावाड़: केंद्र सरकार द्वारा जारी विभिन्न छात्रवृति योजनाओं में आवेदन करने वाले छात्र इस वक्त बड़ी परेशानी का सामना कर रहे है। दरअसल केंद्र के विभिन्न विभागों द्वारा जारी छात्रवृति योजनाओं के दोषपूर्ण सत्यापन की अंतिम तारीख 30 नवंबर 2019 है। जिसमे कई छात्रों के आवेदन मूल निवास, अल्पसंख्यक, जाति प्रमाण-पत्र के अभाव की वजह से अटके हुए है। जो दो दिन बाद निरस्त कर दिये जाएंगे।

Source: National scholarship portal

छात्रों ने बताया कि ई-मित्र के जरिए मूल निवास, अल्पसंख्यक, जाति प्रमाण-पत्र के लिए आवेदन किए हुए है। लेकिन कई दिनों से चक्कर काटने के बाद भी प्रमाण-पत्र प्राप्त नहीं हो रहे है। स्कॉलरशिप पोर्टल पर दस्तावेजों को अपलोड करने का सिर्फ दो दिन का समय बचा हुआ है। लेकिन संशय बना हुआ है कि वक्त पर दस्तावेज़ मिलेंगे भी या नहीं।

Source: National scholarship portal

इस सबंध में ई-मित्र संचालकों से बात की गई तो पता चला कि फार्म कई-कई दिनों तक एप्लिकेशन फार्म देखे ही नहीं जाते। अगर देख भी लिए जाते है तो वेरीफाई होने में महीनों का वक्त लग जाता है। संचालकों ने बताया कि कई बार ऐसा भी होता है कि छात्रों की और से फार्म अधूरे भी होते है। तो कई बार ई-मित्र संचालकों की गलतियाँ होती है। कई ई-मित्र ऐसे लोगों ने खोल रखे है। जिनको पूरा ज्ञान नहीं है और वह अधूरे फार्म, तो कई में गलतियाँ कर अपलोड कर देते है और विभाग ऐसे फार्म को वापस कर देता है। इन वजह से भी छात्रों का न केवल बहुमूल्य समय नष्ट होता है। बल्कि नौबत यहाँ तक आ पहुंची है कि अब उनकी छात्रवृति का आवेदन भी निरस्त होने के कगार पर है। छात्रवृति के अभाव में वह आगे कि पढ़ाई से भी वंचित हो सकते है।

Source: National scholarship portal

जानकारी के अनुसार,  केंद्र की और से Ministry of Minority Affairs, Department of Empowerment of Persons with Disabilities, Ministry of Social Justice & Empowerment, Ministry of Labour & Employment, Ministry of Tribal Affairs, Department of School Education & Literacy, Department of Higher Education, WARB, Ministry of Home Affairs, RPF/RPSF, Ministry of Railway के द्वारा हर साल 15 अक्टूबर तक आवेदन मांगे जाते है। जिसमे दोषपूर्ण सत्यापन की अंतिम तारीख 30 नवंबर तक रहती है। ये विभाग माध्यमिक शिक्षा से लेकर उच्च शिक्षा तक तीन केटेगरी में आवेदन मांगते है।

हर साल हजारों की संख्या में देश भर से वंचित तबके के विद्यार्थी से लेकर शोधार्थी तक आवेदन करते है। लेकिन पचपहाड़ तहसील में जाति, मूल और अल्पसंख्यक प्रमाण-पत्रों के अभाव में सेकड़ों छात्रों का भविष्य अधर में लटका हुआ है।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles