हरिद्वार के लक्सर कोतवाली छेत्र के ढाढेकी गांव निवासी 65 वर्षीय किसान ईश्वरचंद ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। इतना ही नहीं आत्महत्या करने से पहले भाजपा सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

किसान ने अपने सुसाइड नोट पर लिखा है कि पांच साल में भाजपा सरकार किसानों को खत्म और नष्ट करेगी। इसे वोट मत देना वरना चाय ही बिकवा देगा। उन्होंने आगे लिखा है कि भाजपा सरकार ने पांच साल में हर काम बंद किया है। इस सरकार में आधे किसान दुखी हैं ।

लक्सर के एसएचओ वीरेंद्र सिंह के मुताबिक किसान का आरोप है पांच लाख रुपये का लोन दिलाने वाला बिचौलिया उसे ब्लैकमेल कर रहा था। बैंक का लोन न चुकाने पर जब तकादे होने लगे तो बिचौलिए ने मामला सुलटाने के लिए चार लाख रुपये की मांग की। सिंह ने कहा कि अभी सुसाइड नोट के बारे में यह पता नहीं चल सका है इसे खुद किसान ने लिखा है किसी और ने।

पुलिस ने ईश्वरचंद के बेटे की शिकायत पर दलाल अजित सिंह के खिलाफ धारा 306 के तहत केस दर्ज कर लिया है। इस बीच, कांग्रेस ने शर्मा की खुदकुशी के बाद बीजेपी पर हमले तेज कर दिए हैं। कांग्रेस ने कहा कि पार्टी उत्तराखंड में किसानों की खुदकुशी का मामला लगातार उठा रही है लेकिन सरकार इसे लगातार नजरअंदाज कर रही है। राज्य में दो साल के भीतर किसानों की खुदकुशी का यह 17वां मामला था।

राज्य में कांग्रेस के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा, यह दुखद है कि पीएम मोदी बीजेपी के मेनिफेस्टो में किसानों को मुआवजा देने की बात करते हैं. दूसरी ओर, राज्य में किसानों को मौत को गले लगाना पड़ता है। लेकिन बीजेपी के प्रवक्ता देवेंद्र भसीन ने कहा कांग्रेस गलत आरोप लगा रही है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें