लखनऊ | पिछले एक हफ्ते में भारतीय सुरक्षाकर्मियो पर दो बड़े हमले हुए है जिसमे करीब 28 जवान शहीद हो गए. छत्तीसगढ़ के सुकमा में CRPF के 25 जवान नक्सलियों के हमले में शहीद हुए जबकि कल कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकवादियों के हमले में एक कैप्टेन सहित तीन जवान शहीद हो गए. जवानों पर लगातार हो रहे हमलो से जहाँ देश गुस्से में है वही इस नाराजगी का सामना मोदी सरकार को भी करना पड़ रहा है.

पुरे देश से आवाजे आ रही है की मोदी सरकार नक्सलियों और आतंकवादियों पर सख्त कार्यवाही करे. लेकिन हमेश की तरह सरकार कड़ी निंदा कर अपना पल्ला झाड़ने का प्रयास करती है. हालाँकि जब बीजेपी विपक्ष में थी और यूपीए की मनमोहन सरकार के समय ऐसे हमले होते थे , तब बीजेपी नेता बड़े ही आक्रमक रवैये के साथ मनमोहन सरकार पर हमला बोलते थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उसी आक्रमक रवैये की याद दिलाते हुए लखनऊ के एक पूर्व अन्तराष्ट्रीय खिलाडी अजीत वर्मा ने केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को एक पत्र लिखा है. इसके अलावा उन्होंने चुडिया खरीदने के लिए एक हजार रूपए का चेक भी पत्र के साथ संलगन किया है. इस पत्र में अजीत वर्मा ने स्मृति इरानी को उनका 2013 का एक भाषण याद दिलाया है जिसमे उन्होंने मनमोहन सरकार को चूड़ी पहनने की सलाह दी थी.

दरअसल 2013 में एक सभा को संबोधित करते हुए स्मृति इरानी ने कहा था की मन करता है कि केन्द्र की बैठी हुई कांग्रेस की इस सरकार को अपनी ये चूड़ियाँ भेंट कर दूं, और कहूं कि तुम पहन कर देखों जरा. मैं इसलिए ऐसा कह रही हूँ क्योकि जब पाकिस्तान से आकर 10 लड़कों हम पर हमला करते है तब ये कांग्रेस पार्टी न सिर्फ तमाशा देख रही थी, बल्कि पाकिस्तान के आगे हाथ फैला रही थी कि हमें न्याय दो भय्या. उस समय स्मृति के इस बयान की काफी आलोचना हुई थी.