वाशिंगटन. अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड (George Floyd Death) की पुलिस कस्टडी में बर्बरता के बाद हुई मौत के बाद अमेरिका (US) में जारी प्रदर्शन थमने का नाम नही ले रहे है। प्रदर्शनों की आग अब व्हाइट हाउस (White House) पहुंच गयी है। ऐसे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को एक भूमिगत बंकर में ले जाया गया।  व्हाइट हाउस अधिकारियों और कानून प्रवर्तन सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी।

एसोसिएटेड प्रेस (एपी) के अनुसार, यह घटना शुक्रवार रात हुई जब जॉर्ज फ्लोयड की मौत के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कई शहरों में फैल गया। एपी की रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रम्प ने बंकर में लगभग एक घंटा बिताया, जिसे आतं’कवादी हमलों जैसी आपात स्थितियों में उपयोग के लिए डिज़ाइन किया गया था।

रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार की रात सीक्रेट सर्विस एजेंट्स की सलाह पर ट्रंप बंकर में गए। करीब एक घंटा उन्होंने बंकर में बिताया। कानून प्रवर्तन सूत्र और इस घटना से संबंधित एक अन्य सूत्र ने बताया कि अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप और उनके बेटे बैरन को भी बंकर में ले जाया गया था। प्रोटोकॉल के अनुसार, अगर अधिकारी राष्ट्रपति ट्रंप को बंकर में ले जाते हैं तो उनके साथ सुरक्षा प्राप्त लोगों को भी वहां ले जाया जाता है।

व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जुड डीरे ने कहा “व्हाइट हाउस सुरक्षा प्रोटोकॉल और निर्णयों पर टिप्पणी नहीं करता है।” गुप्त सेवा ने कहा कि यह अपने सुरक्षात्मक कार्यों के साधनों और तरीकों पर चर्चा नहीं करता है। राष्ट्रपति के बंकर में जाने की खबर सबसे पहले द न्यूयॉर्क टाइम्स ने चलाई थी।

प्रदर्शनकारियों में से एक ने पत्थर से व्हाइट हाउस की खिड़की को निशाना बनाया। जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए व्हाइट हाउस के पास आंसू गैस के गोले दागे। इसके अलावा प्रदर्शनकारियों ने सड़क के संकेतों (साइन बोर्ड) और प्लास्टिक बाधाओं का उपयोग करते हुए व्हाइट हाउस के पास आग लगा दी। कुछ लोगों ने पास की एक इमारत से एक अमेरिकी झंडा खींचा और उसे आग के हवाले कर दिया।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन