jung

नई दिल्ली | दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने इस्तीफा दे दिया है. दिल्ली की केजरीवाल सरकार से अनबन की वजह से चर्चा में रहने वाले नजीब जंग ने अपना इस्तीफा केंद्र सकरार को भेज दिया है. उधर कांग्रेस ने नजीब जंग के इस्तीफे पर प्रतिक्रिया देते हुए पुछा है की क्या केजरीवाल और मोदी के बीच किसी डील की वजह से जंग को हटाया गया गया है?
अरविन्द केजरीवाल के साथ अधिकारों की जंग लड़ने वाले उपराज्यपाल नजीब जंग ने आज अचानक से अपने पद से इस्तीफा दे दिया. उनके इस तरह इस्तीफा देने से आम आदमी पार्टी और केजरीवाल भी हैरान है. केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा की मैं उपराज्यपाल के इस्तीफा से हैरान हूँ. नजीब जंग को भविष्य के लिए शुभकामनाये. उधर खबर है की केजरीवाल कल नजीब जंग से मुलाकात करेंगे.

उपराज्यपाल भवन की और से जारी बयान में कहा गया की नजीब जंग ने अपना इस्तीफा केंद्र सरकार को भेज दिया है. उन्होंने शिक्षा क्षेत्र से जुड़ने की इच्छा जाहिर की है. नजीब जंग ने 2013 में दिल्ली के उपराज्यपाल पद की शपथ ली थी. वो दिल्ली के 20वे उपराज्यपाल थे. नजीब जंग इससे पहले जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के कुलपति भी रह चुके है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उधर कांग्रेस ने नजीब जंग के इस्तीफे पर मोदी और केजरीवाल पर निशाना साधा है. दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने मीडिया से बात करते हुए कहा की हम जानना चाहते है की नजीब जंग जी के इस्तीफे के पीछे मोदी और केजरीवाल के बीच क्या डील हुई है? उनके इस्तीफे के पीछे के क्या कारण है? क्या केंद्र सरकार ने आरएसएस के किसी कार्यकर्ता को दिल्ली का उपराज्यपाल बनाने के लिए नजीब जंग से इस्तीफा लिया. अगर ऐसा होता है तो हम इसका पुरजोर विरोध करेंगे.

इसी बीच खबर मिली है की दिल्ली के पूर्व कमिश्नर बीएस बस्सी को दिल्ली का उपराज्यपाल बनाया जा सकता है. यह आम आदमी पार्टी के लिए बड़ा झटका होगा. क्योकि बस्सी और केजरीवाल के बीच की तल्खी किसी से छिपी नही है. केजरीवाल ,उनके कमिश्नर रहते हुए उन्हें बीजेपी प्रवक्ता तक कह चुके है.

Loading...