bjp

बीजेपी के सत्ता में आने के साथ ही देश के कई इलाकों में इस्लामिक काल से जुड़े नामों को बदलने का सिलसिला जारी है। दिल्ली में औरंगजेब रोड से यूपी के मुगलसराय तक कई नाम बदले जा चुके है। अब राजधानी दिल्ली का नाम बदलने की मांग की गई।

बीजेपी  नेता और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील अश्वनी उपाध्याय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राजधानी दिल्ली का नाम इंद्रप्रस्थ करने की मांग की साथ ही उन्होने संविधान के अनुच्छेद एक(1) से देश का ‘इंडिया’ नाम मिटाने की भी आवाज उठाई।

उन्होने एक लंबी सूची जारी करते हुए कहा कि इंडिया गेट का नाम भारत द्वार  और राजपथ का नाम धर्मपथ इंडिया गेट के आसपास से गुजरने वाली सात प्रमुख सड़कों के नाम भगवान कृष्ण, बलराम, युधिष्ठर, अर्जुन आदि पांडवों के नाम करने की भी मांग की।

इसके अलावा हैदराबाद, अहमदाबाद,  अहमदनगर, औरंगाबाद, उस्मानाबाद, भोपाल, पटना, निजामाबाद, करीमाबाद, अदीलाबाद, महबूबाबाद, महबूब नगर, मुजफ्फरनगर, अजमेर, अलीगढ़, गाजीपुर और फैजाबाद जैसे कई शहरों के नाम भी मोदी को खत में लिखे।

अश्वनी ने कहा कि इंडिया शब्द की उत्पति INDUS(इंडस) यानी सिंधु नदी से हुई। इंडिया विदेशी शब्द है। दुनिया के ज्यादातर देशों के नाम उनकी स्थानीय भाषा, धर्म-जाति और विचारधारा का प्रतिनिधित्व करने वाले रखे गए हैं, जबकि इंडिया के साथ ऐसा नहीं है। इंडिया शब्द नया है, जिससे लगता है कि इंडिया नामक स्टेट दुनिया में काफी बाद में अस्तित्व में आया है। जबकि हमारा इतिहास हजारों-हजार साल पुराना है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें