chandrashekhar 75921

लखनऊ: भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर की नज़र भी अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं की तरह मुस्लिम वोटों पर है। मुस्लिम वोटों के जरिए वे अपनी नैया पार लगाने की फिराक में है। एक बार फिर से उन्होने मुस्लिमों को दलितों के साथ आने को कहा है।

दलित-मुस्लिम-अन्य पिछड़ा वर्ग एकजुटता के लिए भीम आर्मी के अभियान का जिक्र करते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि मुसलमान अब तक जिन नेताओं और पार्टियों को वोट देकर जिताते रहे, उन्होंने ही उन्हें हाशिये पर पहुंचा दिया। ‘मुझे लगता है कि मुसलमानों को यह समझना चाहिए कि उनका हित आखिर किसके साथ है। उन्हें एक पैमाना बनाना चाहिए कि वे जिसे दोस्त समझकर वोट दे रहे हैं, वह वास्तव में उनका हितैषी है कि नहीं।’

Loading...

उन्होंने कहा कि आज मुसलमानों का हित दलितों के साथ है। ‘मुझे लगता है कि दोनों तबकों के बीच सामाजिक प्रेम बढ़ जाएगा तो कोई उन्हें राजनीतिक टुकड़ों में नहीं बांट पाएगा। उन्होंने कहा कि दोनों तबके अर्से से वंचित तबके हैं। मैं उन्हें उनकी कमजोरी का एहसास करा रहा हूं। साथ ही उन्हें बता रहा हूं कि उनका वास्तविक हित कहां है।’

india muslim 690 020918052654

उनसे पूछा गया कि क्या मुस्लिम समाज में कोई सर्वमान्य नेतृत्व नहीं होना, मुस्लिम-दलित एकजुटता ना बन पाने के लिए बड़ी बाधा है ? इस पर भीम आर्मी प्रमुख ने सहमति जताते हुए कहा कि देश में पिछले कुछ सालों से मुसलमानों पर इतने हमले हुए, उन्हें ‘मॉब लिचिंग‘ का शिकार बनाया गया, मगर उनके हितैषी होने का दावा करने वाला कोई भी दल उनकी आवाज उठाने के लिए सामने नहीं आया। जाहिर है कि मुस्लिम समाज के साथ अब तक वोटों की ठगी ही की गयी है।

उन्होंने कहा कि मुसलमानों ने बहुत पहले बाबा साहब भीमराव आंबेडकर पर भरोसा करके उन्हें अपनी सीट छोड़कर संसद भेजा था। आंबेडकर ने बहुत कुछ करने का प्रयास किया था, मगर वह अकेले पड़ गये थे। इस बार हम प्रयास करेंगे कि मुस्लिम समाज को नेतृत्व देकर भीम आर्मी में आगे बढ़ाया जाए। सामाजिक एकता मजबूत होगी तो कोई दंगा नहीं होगा। चंद्रशेखर ने कहा कि अब वह मुस्लिम-दलित जुगलबंदी में अन्य पिछड़े वर्गों को भी जोड़ना चाहते हैं, जिससे कि देश का बहुत बड़ा तबका धर्म के नाम पर गुमराह ना हो। उसको भी समझ में आये कि उसके वास्तविक अधिकार क्या हैं। लिहाजा अब हमारा पूरा ध्यान उन्हें जागरूक और एकजुट करने पर है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें