ऑस्ट्रिया की एक अदालत ने प्राथमिक विद्यालयों में मुस्लिम छात्राओं के हिजाब पहनने पर लगाए प्रतिबंध को “असंवैधानिक” करार देते हुए रद्द कर दिया है।

संवैधानिक न्यायालय के प्रमुख क्रिस्टोफ ग्रैबवेनर ने कहा, प्रतिबंध समानता,विचार, विश्वदृष्टि और धर्म की स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन करता है।

ग्रैबवेनर ने कहा कि कानून केवल मुस्लिम छात्रों को न केवल निशाना बना रहा था बल्कि शिक्षा प्रणाली में भी भेदभाव का कारण बना। उन्होंने कहा कि कानून मुस्लिम महिलाओं के लिए शैक्षणिक अवसरों को सीमित करने का जोखिम रखता है और इससे उन्हें समाज से बाहर रखा जा सकता है।

इस प्रतिबंध में सिखों, यहूदियों को छूट दी गई थी। जब प्रतिबंध का आदेश दिया गया था, तो ऑस्ट्रियाई सरकार ने कहा था कि सिख लड़कों द्वारा पहने जाने वाले पटाका सिर या यहूदी यर्मुलके प्रभावित नहीं होंगे।

2017 के आकड़ों के अनुसार ऑस्ट्रिया में अनुमानित 700,000 मुसलमान रह रहे थे जो देश की लगभग 8 प्रतिशत आबादी है। जो आंशिक रूप से कई तुर्कों का एक समूह था जो 1960 और 1970 के दशक में काम करने के लिए ऑस्ट्रिया आए थे और यहाँ पर रुके थे।

Loading...
विज्ञापन