लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पिछले 12 माह में गोरखपुर में एक हजार से ज्यादा बच्चों की मौत होने का दावा करते हुए सरकार से पूछा कि इसका जिम्मेदार कौन है.

अखिलेश ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसते हुए कहा, ‘उन्हें कोटा में शिशुओं की मौत की चिंता है. लेकिन गोरखपुर में बच्चों की मौत के बारे में कब विचार करेंगे?’ उन्होंने आरोप लगाया कि गोरखपुर में दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चों को गलत दवाइयां दी जा रही थीं जिससे कि इससे जुड़ी सच्चाई सामने न आ सके.

अखिलेश ने कहा कि वो जल्दी ही मृतक बच्चों की सूची जारी करेंगे. बच्चों को गलत दवाइयां क्यों दी गईं? इसके लिए कौन जवाबदेह है? इस बीच, प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने अखिलेश को जवाब देते हुए कहा कि सपा अध्यक्ष को इसके सुबूत देने चाहिए. उन्होंने कहा ”सूची प्रस्तुत करें, झूठा आरोप न लगाएं. जापानी इंसेफेलाइटिस पर पूरी तरह नियंत्रण पा लिया गया है.”

वहीं दूसरी ओर उन्होंने नोएडा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण से जुड़े मामले पर भी सरकार को घेरा। उन्होंने कहा ‘कानून-व्यवस्था संभालने की जिनकी जिम्मेदारी थी वे आज किन बातों में उलझे हुए हैं? पहले तो राजनीतिक पार्टियां जिस तरह के आरोप लगाती थीं, अब आईपीएस खुद इल्जाम लगा रहे हैं। इस सबके लिये सरकार और उसके मुखिया जिम्मेदार हैं.’

सपा अध्यक्ष ने कहा कि इस सबको देखते हुए बहुत जल्द सपा के नौजवान कार्यकर्ता साइकिल चलाकर रोजगार मांगने का काम करेंगे।उन्होंने नारा दिया, ‘नहीं भरेंगे एनपीआर, नौजवान मांगे रोजगार.’

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन