Monday, June 14, 2021

 

 

 

मुस्लिम क्रिकेटरों के लिए उस्मान ख्वाजा ने शुरू की बड़ी पहल, मिलने वाला है बड़ा फायदा

- Advertisement -
- Advertisement -

ऑस्ट्रेलिया के पहले मुस्लिम क्रिकेट खिलाड़ी उस्मान ख्वाजा ने मुस्लिम क्रिकेटरों के लिए एक बेहद ही खास पहल शुरू की है। दरअसल वे दक्षिण एशियाई मूल के क्रिकेटरों को ऑस्ट्रेलिया में अधिक प्रतिनिधित्व दिलाने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के साथ काम कर रहे है।

इस्लामाबाद में जन्में उस्मान ख्वाजा पांच साल की उम्र में ही अपने परिवार के साथ ऑस्ट्रेलिया चले गए थे। वह 2011 में एशेज टेस्ट में अपने घरेलू मैदान एससीजी (सिडनी) में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डेब्यू के साथ ही ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले मुस्लिम और पाकिस्तानी मूल के खिलाड़ी बने थे।  उन्होंने बताया कि शुरू में उन्हें ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की ओर से कोई समर्थन नहीं मिला, लेकिन जैसे-जैसे वह आगे बढ़ते रहे, उन्हें समर्थन मिलना शुरू हो गया। ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के मुताबिक ख्वाजा ने कहा, ‘ अब स्थिति काफी बेहतर है।’

उस्मान ख्वाजा ने कहा , ”मैं ऑस्ट्रेलिया में राज्य स्तर पर बहुत सारे ऐसे क्रिकेटरों को देख रहा हूं , विशेष रूप से उपमहाद्वीप की पृष्ठभूमि वालो को। जब मैंने खेलना शुरू किया था तब वास्तव में ऐसा नहीं था।” उन्होंने कहा, ‘ जब मैं घरेलू क्रिकेट खेल रहा था और मैं वहां इकलौता उपमहाद्वीप का खिलाड़ी था। इस समय शायद मेरे साथ कुछ अन्य खिलाड़ी है।’

उन्होने ये भी बताया कि ‘जब मैं ऑस्ट्रेलिया में बड़ा हो रहा था, तब मुझे कई बार कहा गया था कि मैं ऑस्ट्रेलिया के लिए कभी नहीं खेल पाऊंगा।’ ऐसा उनके अश्वेत होने के चलते कहा जाता था। ख्वाजा ने कहा, ‘मुझसे कहा जाता था कि मेरी त्वचा का रंग सही नहीं है। मुझे बताया जाता था कि मैं टीम में चुने जाने के लिए फिट नहीं हूं। वे मुझे नहीं चुनेंगे। तब ऐसी ही मानसिकता थी। हालांकि, अब यह बदलने लगी है।’

ख्वाजा ने कहा , ‘‘ हमें अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है और मैं इंग्लैंड की टीम को देखता हूं तो उनके पास लंबे समय से विविधता है। वे हमसे पुराने राष्ट्र हैं , लेकिन मैं उस विविधता को देख सकता हूं और सोच सकता हूं कि शायद यही वह जगह है जहां ऑस्ट्रेलिया को पहुंचने की जरूरत है। ’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles