सेंसर बोर्ड की ओर से हरी झंडी मिल चुकी ‘जॉली एलएलबी 2’ पर अब बंबई उच्च न्यायालय ने कट लगाने के आदेश दिए हैं. बॉम्‍बे हाईकोर्ट के औरंगाबाद खंडपीठ ने फिल्म जॉली एलएलबी 2 से चार सीन हटाने का आदेश दिया है. अब सेंसर बोर्ड दोबारा इस फिल्‍म के लिए सर्टिफिकेट जारी करेगा.

न्यायायल ने साफ कहा है कि फिल्म से उन दृश्यों को हटाया जाए जो वकीलों की गलत छवि पेश करते हैं. यह अपने आप में ऐसा पहला मामला है जहां सेंसर बोर्ड की अनुमति के बाद न्यायालय की ओर से कोई आदेश आया हो. अब तक न्यायालय में फिल्मों से जुड़े अकसर वहीं मामले आते रहे हैं जहां फिल्म प्रमाणन बोर्ड ही फिल्मों में दृश्यों को लेकर आपत्ति उठाता रहा है.

अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा है कि वह बंबई उच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करते हैं. सीबीएफसी के चैयरमेन पहलाज निहलानी के मुताबिक “हमें इस फिल्म पर कोई आपत्ति नहीं है. यह मनोरंजन के उद्देश्य से गढ़ी गई एक काल्पनिक कहानी है. ” हालांकि निहलानी ने यह भी कहा कि वे अदालती आदेश के इंतजार में हैं.

बता दें कि वकील अजय कुमार वाघमारे ने बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका दायर कर फिल्म के टाइटल से ‘एलएलबी’ शब्द को हटाने की मांग की थी. वाघमारे ने अपनी इस याचिका में ट्रेलर के कई सीन का जिक्र करते हुए लिखा है कि इसमें किरदारों को कोर्ट परिसर के अंदर पत्ते खेलते और डांस करते दिखाया गया है, जिससे वकील के पेशे की छवि धूमिल होती है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें