फेयरनेस क्रीम्स के खिलाफ एक्टर सुशांत सिंह राजपूत ने बड़ा कदम उठाते हुए क्रीम प्रोडक्ट का ब्रांड अंबेसडर बनने से मना कर दिया. कंपनी ने सुशांत को 15 करोड़ का ऑफर दिया था.

एक प्रसिद्ध गोरा बनाने वाली क्रीम ने ब्रांड एम्बेसेडर बनाने के लिए सुशांत को प्रस्ताव भेजा था, जिसे सुशांत सिंह राजपूत ने मना कर दिया. सुशांत का मानना है कि बहुत से लोग उन्हें अपना मॉडल मानते हैं. इसीलिए उन्हें बहुत सोच समझ के ही उन प्रोडक्ट्स को एंडोर्स करना चाहिए जिन्हें वो खुद भी इस्तेमाल करेंगे.

सुशांत ने बताया, “एक जिम्मेदार एक्टर होने के नाते हमारी ये जिम्मेदारी है कि अपने फैन्स को किसी भी तरह की गलत सूचना न दें. हमें कभी भी ऐसे किसी उत्पाद को बढ़ावा नहीं देना चाहिए जो एक स्किन के रंग को दूसरे से बेहतर साबित करे.”

गौरतलब है कि पिछले साल एक्टर अभय देओल ने बॉलीवुड सेलेब्स पर रंग निखारने वाली क्रीम्स के विज्ञापन करने को लेकर खूब तंज कसे थे. जिसके बाद बॉलीवुड गलियारों में इस बात को लेकर बहस सी छिड़ गई थी कि इस तरह के विज्ञापन करना सही है या नहीं.

इस मामले में कंगना रनौत ने कहा था कि हमारा देश खूबसूरत लोगों से भरा हुआ है, फिर भी हम गोरे रंग के लिए पागल हैं. साथ ही उन्होंने उन एक्टर्स पर शर्म जताई थी जो ऐसे उत्पादों को बढ़ावा देते हैं. हालांकि शाहरुख खान, यामी गौतम, आलिया भट्ट और जॉन अब्राहिम जैसे एक्टर्स गोरापन बढ़ाने का दावा करने वाली क्रीम का विज्ञापन करते हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें