shekhar suman

मुंबई | अभिनेता विजय अभिनीत तमिल फिल्म ‘मर्सल’ को लेकर हंगामा खड़ा हो गया है. इस फिल्म में जीएसटी के ऊपर एक संवाद है जिस पर बीजेपी ने कड़ी आपत्ति जताई है. बीजेपी का कहना है की फिल्म में नोट बंदी और जीएसटी को लेकर नकारात्मक बाते कही गयी है जो सही नही है. इसलिए बीजेपी ने इन सवांद को फिल्म से हटाने की मांग की है. वही इस विवाद पर बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव की एक टिपण्णी से भी विवाद खड़ा हो गया है.

दरअसल जेवीएल ने टाइम्स नाउ को दिए गए इंटरव्यू में कहा था की अधिकांश भारतीय फिल्म स्टार्स का आईक्यू और जनरल नॉलेज कम होता है. जीवीएल के इस बयान से कुछ बॉलीवुड अभिनेता काफी नाराज हुए और उन्होंने इस बयान की काफी आलोचना की. मशहूर अभिनेता फरहान अख्तर ने जेवीएल के बयान पर पलटवार करते हुए ट्वीट किया की आपकी यह कहने की हिम्मत कैसे हुई. इसके अलावा फरहान ने सभी फ़िल्मी कलाकारों पर भी निशाना साधा.

उन्होंने लिखा की आप सबको शर्म आनी चाहिए, देखिए ये आप लोगों के बारे में क्या कह रहे हैं. फरहान के ट्वीट का जवाब देते हुए जीवीएल ने लिखा की ओपिनियन शेयर करना हिम्मत नहीं होती. काम के लिए स्टार्स की रेस्पेक्ट करते हैं. कृपया इनटॉलरेंस नहीं. अब इस ट्वीटर वार में अभिनेता शेखर सुमन भी कूद गए है. उन्होंने जेवीएल के बयान को बीजेपी में शामिल कई फ़िल्मी हस्तियों के साथ जोड़ दिया.

बॉलीवुड हंगामा से बात करते हुए उन्होंने कहा की बीजेपी प्रवक्ता का बयान बेवकूफी भरा है. जब फिल्मी सितारों का आईक्यू कमजोर है तो आपने स्मृति ईरानी, शत्रुघ्न सिन्हा, विनोद खन्ना, धर्मेंद्र या हेमा मालिनी जैसे कलाकारों को बीजेपी में शामिल होने और पार्टी के लिए प्रचार करने की अनुमति क्यों दी? आप इन्हें कैबिनेट मंत्री क्यों बनाते हैं? आप यह कहना चाहते है की स्मृति इरानी जिसे अपने केन्द्रीय मंत्री बनाया है उसका आक्यू नही है?

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano