अपने शानदार अभिनय से बॉलीवुड में पहचान बनाने वाले अभिनेता बोमन ईरानी ने कहा कि उन्हें बॉलीवुड में आने का मौका अरशद वारसी की वजह से मिला हैं.

इस शुक्रवार को रिलीज हो रही फिल्म ‘द लीजेंड ऑफ माइकल मिश्रा’ में बोमन और अरशद एक साथ नजर आने वालें है. फिल्म के प्रचार के लिये दिल्ली पहुंचे बोमन ने कहा कि अरशद पहले व्यक्ति थे जिन्हें लगा की वह फिल्मों में अच्छा अभिनय कर सकते हैं. बोमन ने कहा कि मुंबई में मैंने जहां थिएटर करना शुरू किया था वहां अरशद कोरियोग्राफर थे और तब उन्हें फिल्मों में अभिनय का मौका मिलना शुरू हो गया था. मेरे पहले थिएटर परफॉर्मेंस के बाद ही अरशद ने कहा कि मुझे फिल्मों में काम करना चाहिये. अरशद को जब ‘तेरे मेरे सपने’ में काम का मौका मिला तो उसने फिल्म की निर्माता जया बच्चन से मेरे बारे में बात की.

उन्होंने कहा यह बात लगभग 25 वर्ष पुरानी है उस समय मैं और अरशद एक दूसरे को ठीक से पहचानते भी नहीं था, थिएटर के सिलसिले में अरशद की एक प्रेस कांफ्रेंस हो रही थी जहां मैं पीछे खड़ा होकर यह देख रहा था कि कांफ्रेंस होती कैसे है इसी बीच अरशद ने मीडिया के सामने मेरी तारीफ शुरु कर दी और पीछे भीड़ में खड़ा होकर यह सब सुन रहा था. एक जूनियर कलाकार को ऐसा सम्मान मिलना बड़ी बात है.

गौरतलब रहें कि बोमन और अरशद मुन्ना भाई एमबीबीएस, जॉली एलएलबी जैसी फिल्मों के साथ साथ कई अन्य फिल्मों में साथ नजर आए.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें