लगातार देश में ट्रेन हादसों के चलते सेकड़ों लोगों को एक के बाद एक अपनी जान से हाथ धोना पड़ रहा है. ऐसे में क्रिकेटर गौतम गंभीर ने केंद्र पर भड़कते हुए कहा कि हादसों पर ध्‍यान पहले दिया जाना चाहिए, बुलेट ट्रेन के सपने बाद में भी देखे जा सकते हैं।’

गौतम गंभीर ने ट्वीटर पर लिखा, ‘पिछले 4 सालों में 330 से ज्यागा ज़िंदगियों ने 249 से ज्यादा रेल दुर्घटनाओं में अपनी जान गंवाई है, मुआवज़ा उनकी ज़िंदगियों की भरपाई नहीं कर सकता.’ उन्होंने आगे लिखा कि ‘आगे ऐसी घटनाएं ना हों इसके इंतज़ाम किए जाएं उसके बाद बुलेट ट्रेन के बारे में विचार किया जाए.’

गंभीर ने इसके बाद एक और ट्वीट कर कहा, ‘बुलेट ट्रेन या रेलवे में आने वाली नई-नई योजनाओं का कोई मतलब नहीं है अगर मौजूदा रेलवे के हालात में सुधार नहीं कर पाते हैं तो.’

गौरतलब रहें कि  केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ताा में आने के बाद रेल हादसों की संख्याे में बढ़ोत्त री देखी गई है. पिछले ढाई साल करीब तीन दर्जन रेल हादसे हुए हैं.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें