शनिवार को डायरेक्टर संजय लीला भंसाली पर जयपुर में फिल्म ‘पद्मावती’ की शूटिंग के दौरान सेट पर हुए हमले पर गंभीर आलोचना करते हुए सवाल किया कि क्या राजपूत करनी सेना देश की इतिहास की केयरटेकर हैं.

उन्होंने कहा,  बिना फैक्ट जाने, बिना फिल्म देखे, आप मोर्चा बना लेते हो और किसी को भी मारना शुरू कर देते हो. क्या बकवास है ये. क्या हमारे देश में फिल्म प्रोड्यसर्स और एक्टर्स के लिए इसी तरह की सिक्युरिटी है? आखिर इसका जवाबदार कौन है ?

ऋषि ने आगे कहा, आज आपने ऐसा किसी एक के साथ किया है, कल ऐसा सभी के साथ हो सकता है. ऐसे में तो फिल्में बनाना मुश्किल हो जाएगा. आखिर कौन होते हैं वो? क्या वो इतिहास के केयरटेकर (रखवाले) हैं? उन्होंने कहा, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में कुछ प्रोटेस्टर्स कैमरे और शूटिंग के दूसरे इक्विपमेंट तोड़ते दिख रहे हैं. साथ ही वो नारे लगाते हुए गालियां दे रहे हैं. अगर आपको कुछ करना है तो पहले मूवी देखें और उसके बाद ही कोई जजमेंट दें. आप कानून को अपने हाथों में कैसे ले सकते हैं?

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसी के साथ उन्होंने कहा, ये राजपूत करणी सेना या जो भी हैं, क्या उनके पास कानून को अपने हाथ में लेने का अधिकार है. हमारे पास ज्यूडिशियरी है. उसे क्या सही है और क्या गलत इसका फैसला करने का अधिकार है. सेंसर बोर्ड है, जो लोगों तक फिल्म पहुंचने से पहले क्या सही है और क्या नहीं इसे तय करता है.

Loading...