Tuesday, September 21, 2021

 

 

 

बाबा बोले- मुझे शराब और महिलाओं के साथ दिखाया गया

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली। कॉमेडियन कीकू शारदा विवाद के बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह ने पहली बार मीडिया से खुलकर बात की है। एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्‍यू में राम रहीम ने कहा कि डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों की भावनाएं आहत करने के आरोप में फंसे कॉमेडियन कीकू शारदा \’पलक\’ से उन्‍हें कोई नाराजगी नहीं है। हालांकि, उन्हें लोगों भ्रमित करने वाली एक्टिंग नहीं करनी चाहिए थी। इसमें गलती अकेले कीकू की नहीं प्रोग्राम बनाने वालों की भी थी। उनको देखना चाहिए था।

बाबा ने कहा कि मैं शराब पीता नहीं, शराब छुड़वाने का काम करता हूं। मैं कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए काम करता हूं जबकि कीकू ने जो मेरी एक्टिंग की उसमें मुझे शराब और महिलाओं के साथ दिखाया गया है। उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था। बाबा ने बताया कि कीकू ने अपनी गलती के लिए माफी मांग ली थी, इसलिए अब मुझे किसी से कोई नाराजगी नहीं है।

गौरतलब है कि लोकप्रिय टेलीविजन शो \’कॉमेडी नाइट्स विद कपिल\’ में पलक का किरदार निभा रहे कॉमेडियन कीकू शारदा पर 31 दिसंबर को डेरा सच्चा सौदा संप्रदाय के अनुयायियों की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचाने के लिए मामला दर्ज किया गया था। इसके बाद कीकू शारदा को गिरफ्तार कर उन्‍हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। मजाक उड़ाने वाले इस कार्यक्रम का प्रसारण 27 दिसंबर को हुआ था। शो के दौरान बाबा राम रहीम की नकल उतारी गई थी।

पहले भी विवादों में रह चुके हैं बाबा

– राम रहीम ने 2007 में सिखों के धर्मगुरू गुरू गोविंद सिंह की तरह पोशाक पहनी थी, जिसको लेकर विवाद हो गया था।
– मामला अकाल तख्त तक पहुंचा, तो सितंबर 2015 में राम रहीम को माफी दे दी गई।
– माफी को लेकर सिख समुदाय में मतभेद शुरू हो गया था।
– जगह-जगह प्रदर्शन होने लगे और काली दीवाली मनाई गई।
– माफी देने के लिए सिंघ साहिबान के प्रति रोष बढऩे लगा।
– एक महीने बाद सिंघ साहिबान ने गुस्से को देखते हुए माफी का फैसला खारिज कर दिया था।

विवाद पर बाबा राम रहीम ने ये कहा था

– उन्होंने मुझे माफी देने का निर्णय सबूतों को जांचने-परखने के बाद लिया था।
– डेरा की तरफ से उनको वीडियो कैसेट और ऑडियो चिट्ठी के साथ भेजा गया था।
– राम रहीम ने कहा कि माफी के लिए मेरी तरफ से कोई सियासी दबाव नहीं बनाया गया था।
– डेरा प्रमुख ने कहा कि सिखों को सिंह साहिबान की बात माननी चाहिए थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles